रिलायंस इंडस्ट्रीज के ‘राइट एनटाइलमेंट’ के लिए दूसरे दिन भी जोरदार मांग

पुनः संशोधित गुरुवार, 21 मई 2020 (23:03 IST)
मुंबई। शेयर बाजारों में के ‘राइट एनटाइलमेंट’ (आरआईएल-आरई) के डिमैट कारोबार में गुरुवार को दूसरे दिन भी जोरदार मांग रही। यह 15.6 प्रतिशत के लाभ के साथ बंद हुआ।
पेट्रोलियम से लेकर दूरंसचार तक विविध कारोबार करने वाली कंपनी आरआईएल ने 53,125 करोड़ रुपए के राइट इश्यू की घोषणा की है। यह राइट इश्यू बुधवार को शेयरधारकों की खरीदारी के लिए खुल गया है।

यह पहला ऐसा राइट इश्यू है जिसमें पात्र शेयरधारकों को डिमैट रूप में ही शेयर पात्रता प्रमाण प्राप्त हुए हैं। इसका कारोबार शेयर बाजारों में हो सकता है।

शेयर बाजारों के पास उपलब्ध आंकड़े के अनुसार आरआईएल-आरई कारोबार के दौरान 258.30 रुपए तक गया। यह पिछले बंद भाव के मुकाबले 27.8 प्रतिशत अधिक है।
नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में गुरुवार को आरआईएल-आरई 212 पर खुला और 233.60 पर बंद हुआ। यानी इसमें 15.6 प्रतिशत की वृद्धि हुई। रिलायंस के सभी आरई का बाजार मूल्य 9,805 करोड़ रुपए हैं।

राइट्स ऐंटाइटलमेंट का दाम रिलायंस शेयर के बाजार भाव और उसके राइट इश्यू मूल्य का अंतर है। गुरुवार को आरआईएल का शेयर मूल्य 1,444 रुपए पर बंद हुआ जबकि कंपनी ने राइट इश्यू के लिए 1,257 रुपए दाम रखा है। इस प्रकार आरई का भाव 187 रुपए रहा लेकिन जबर्दस्त मांग के चलते यह प्रीमियम पर बोला जा रहा है और भाव 233.60 रुपए तक पहुंच गया।
आरआईएल ने कंपनी के प्रत्येक 15 शेयरों के लिए एक शेयर राइट इश्यू के तहत देने की पेशकश की है। राइट इश्यू में मिलने वाले शेयर के लिए निवेशकों को 18 महीने में तीन किस्तों में भुगतान करना है।

यह पहला ऐसा राइट इश्यू है, जहां पात्र शेयरधारकों को राइट्स एंटाइटलमेंट यानी आरई डिमैट खाते में भेजा गया है और उसकी मुक्त रूप से खरीद फरोख्त की जा रही है। (भाषा)


और भी पढ़ें :