लाल किताब से जानिए मंगल की शुभता


अनिरुद्ध जोशी|
शुभ मंगल की निशानी 
 
* मंगल नेक सेनापति का स्वभाव रखता है। ऐसा व्यक्ति न्यायप्रिय और ईमानदार रहता है।
 
* शुभ हो तो साहसी, शस्त्रधारी व सैन्य अधिकारी बनता है या किसी कंपनी में लीडर या फिर श्रेष्ठ नेता।
 
* मंगल अच्छाई पर चलने वाला ग्रह है किंतु मंगल को बुराई की ओर जाने की प्रेरणा मिलती है तो यह पीछे नहीं हटता और यही उसके अशुभ होने का कारण है।
 
* सूर्य और बुध मिलकर शुभ मंगल बन जाते हैं।
 
* दसवें भाव में मंगल का होना अच्‍छा माना गया है।
 
मंगल के उपाय  
 
* जिसका मंगल बद है उसे निरंतर हनुमानजी की भक्ति करते रहना चाहिए।
 
* मंगल खराब की स्थिति में सफेद रंग का सूरमा आंखों में डालना चाहिए।
 
* घर से बाहर निकलते समय गुड़ खाना चाहिए।
 
* भाई और मित्रों से संबंध अच्‍छे रखना चाहिए। >
>



और भी पढ़ें :