पंत ने जीत का सेहरा गेंदबाजों के सिर बांधा, राहुल ने कहा करेंगे जबरदस्त वापसी

पुनः संशोधित सोमवार, 19 अप्रैल 2021 (16:54 IST)
मुंबई:के खिलाफ रविवार को के 11वें मुकाबले में बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत मैच जीतने के बाद के कप्तान ने कहा कि पिछला मैच हार कर आने के कारण यह मैच जीतना महत्वपूर्ण था।
पंत ने कहा, “हम मैच की शुरुआत में दबाव में थे। विकेट में ज्यादा हरकत नहीं थी। गेंदबाजों ने पंजाब किंग्स को 194 पर रोक कर अच्छा काम किया। के पास बहुत अनुभव है। फील्डिंग कैसे लगाई जाए और अन्य कई चीजों को लेकर आप उनसे बात कर सकते हैं। कुल मिलाकर वह टीम को जो दे रहे हैं वह सराहनीय है। मैं टीम में अच्छा माहौल रखना पसंद करता हूं, जिसमें खिलाड़ी खुद को ढाल पाएं और क्रिकेट का आनंद ले सकें। ”
वहीं दिल्ली कैपिटल्स की शानदार जीत में अहम योगदान निभाने वाले और प्लेयर ऑफ द मैच रहे शिखर धवन ने कहा कि वह जानते थे कि उन्हें क्या करना है और उन्होंने उसी दिशा में प्रयास किया।
धवन ने मैच के बाद कहा, “ मुझे पता था कि मुझे अपने स्ट्राइक रेट में सुधार करना होगा, इसलिए शुरुआत से ही अधिक जोखिम लेते हुए खेलना शुरू किया। गेंदबाजी में बदलाव से डरा नहीं और इसी सोच के साथ खेला। बाहर निकलकर खेलने से भी नहीं डरा। मैंने अपने कुछ शॉट्स पर काम किया है और मेरे स्लॉग शॉट में बहुत सुधार हुआ है। यह पहले भी सही था, लेकिन अब मैं इसे अधिक स्वतंत्रता से खेलता हूं।

इतने वर्षाें से खेलते हुए मैं अब काफी ज्यादा आराम महसूस कर रहा हूं। कभी आपको मिली चीजों को उपकार नहीं समझना चाहिए। पृथ्वी के साथ शानदार ओपनिंग हुई। उन्होंने जिस तरह से क्रिकेट खेला और 32 रन बनाए उससे खुश हूं। ”
मजबूत वापसी करेंगे और मैच जीतेंगे : राहुल

दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ यहां रविवार को शानदार मुकाबला हारने के बाद पंजाब किंग्स के कप्तान ने कहा कि मैच जीतना जन्मदिन पर एक तोहफे जैसा होता, इसलिए मैच हारना थोड़ा निराशाजनक है। खैर कोई नहीं हमारे पास काफी मैच हैं, इसलिए उम्मीद है कि हम मजबूत वापसी करेंगे और कुछ मैच जीतेंगे।
राहुल ने मैच खत्म होने के बाद कहा, “ अभी ऐसा लग रहा है कि हमने 10-15 रन कम बनाए, लेकिन मुझे और मयंक को लगा था कि इस विकेट पर 180-190 रन बढ़िया हाेंगे। शिखर ने अच्छी बल्लेबाजी की, इसके लिए उन्हें बधाई। जब हम वानखेड़े में खेलते हैं तो दूसरी पारी में गेंदबाजी करना हमेशा एक चुनौतीपूर्ण होता है और खासकर जब सामने ऐसे बेहतरीन बल्लेबाज हों तो मुश्किल और बढ़ जाती है।

मैं ऐसा इसलिए नहीं कह रहा हूं, क्योंकि मैं हारने वाले टीम की तरफ हूं। हम ऐसी परिस्थितियों में खेलने की तैयारी कर रहे हैं। दूसरी पारी में ओस के कारण गेंदबाजों ने गीली गेंद के साथ गेंदबाजी करने की कोशिश की, लेकिन ऐसा करना हमेशा मुश्किल होता है। मैंने अंपायरों को गेंद को दो बार बदलने के लिए कहा, लेकिन नियम के अनुसार इसकी अनुमति नहीं दी गई। ”(वार्ता)



और भी पढ़ें :