स्पिनरों के कारण किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ दिल्ली कैपिटल्स का पलड़ा भारी

Last Updated: शनिवार, 19 सितम्बर 2020 (16:34 IST)
दुबई। रविचंद्रन अश्विन, अमित मिश्रा और अक्षर पटेल जैसे अनुभवी स्पिनरों की मौजूदगी के कारण का रविवार को खेले जाने वाले इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के मुकाबले में के खिलाफ पलड़ा भारी रहेगा।
दोनों टीमों का यह सत्र का पहला मुकाबला होगा जहां उनके कप्तानों के बीच भी शानदार प्रतिद्वंद्विता देखने को मिल सकती है। किंग्स इलेवन के कप्तान लोकेश राहुल और दिल्ली कैपिटल्स के श्रेयस अय्यर को भविष्य के भारतीय कप्तान के तौर पर देखा जा रहा है।

यही नहीं दोनों टीमों के कोच विश्व स्तरीय खिलाड़ी रहे है और ऐसे में उनकी रणनीति को देखना दिलचस्प होगा। किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाड़ी अनिल कुंबले से प्रेरणा लेना चाहेंगे तो वही दिल्ली कैपिटल्स के खिलाड़ी रिकी पोंटिंग की योजनाओं को मैदान पर उतारने में कोई कसर नहीं छोड़ेगे।

दोनों टीमों में बड़े शॉट लगाने वाले खिलाड़ियों को कमी नहीं है लेकिन यूएई की धीमी पिचों पर अश्विन, मिश्रा और अक्षर की तिकड़ी पंजाब की टीम पर भारी पड़ सकती है। यह मुकाबला दुबई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा।

बल्लेबाजी के मोर्चे पर दिल्ली कैपिटल्स में भारतीय और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों का अच्छा मिश्रण है। जिसमें पृथ्वी शॉ, अय्यर, ऋषभ पंत, शिखर धवन के अलावा वेस्टइंडीज के शिमरोन हेटमेयर शामिल हैं।

इस परिदृश्य में भारतीय टेस्ट उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे (120 से कम की स्ट्राइक रेट) को शायद मौका नहीं मिले। टीम ने उन्हें राजथान रॉयल्स से खरीदा गया था। किंग्स इलेवन के पास क्रिस गेल, ग्लेन मैक्सवेल और खुद राहुल जैसे बड़े शॉट लगाने वाले खिलाड़ी है।

इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे एकदिवसीय में 108 रन की पारी खेल कर टीम को जीत दिलाने वाले मैक्सवेल का आत्मविश्वास काफी ऊंचा होगा। उन्होंने 2014 में जब इस टूर्नामेंट के कुछ मैच यूएई में खेले गए थे तब शानदार प्रदर्शन किया था। मैक्सवेल ने उस सत्र में 16 मैचों में 552 रन बनाए थे।

किंग्ल इलेवन के पास गेल और राहुल के रूप में खतरनाक सलामी जोड़ी है, जिसके बाद मयंक अग्रवाल का नंबर आता है। दिल्ली कैपिटल्स की टीम कागिसो रबाडा के साथ बिग बैश लीग में सबसे अधिक विकेट लेने वाले डैनियल सैम्स को अंतिम 11 में शामिल कर सकती है जिससे ईशांत शर्मा को बाहर बैठना पड़ सकता है।

किंग्स इलेवन पंजाब के लिए मोहम्मद शमी तेज गेंदबाजी आक्रमण की अगुवाई करेंगे जबकि स्पिन विभाग की जिम्मेदारी अफगानिस्तान के मुजीब जदरान पर होगी। अश्विन पिछले सत्र में हुए ‘मांकेडिंग’ विवाद को पीछे छोड़कार मिश्रा के साथ शानदार जोड़ी बनाना चाहेंगे। मिश्रा के नाम में 157 विकेट है और वह सबसे अधिक विकेट चटकाने वालों की सूची में दूसरे स्थान पर है।

पिछले पांच मुकाबलों में हालांकि पंजाब की टीम ने चार मैच जीते है लेकिन दोनों टीमों के बीच आखिरी मैच में दिल्ली की टीम भारी पड़ी थी।

टीमें : दिल्ली कैपिटल्स : श्रेयस अय्यर (कप्तान), रविचंद्रन अश्विन, शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, शिमरोन हेटमायर, कगिसो रबाडा, अजिंक्य रहाणे, अमित मिश्रा, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), इशांत शर्मा, अक्षर पटेल, संदीप लामिचाने, कीमो पॉल, डैनियल सैम्स, मोहित शर्मा, एनरिच नोर्जे, एलेक्स कैरी (विकेटकीपर), अवेश खान, तुषार देशपांडे, हर्षल पटेल, मार्कस स्टोइनिस, ललित यादव।
किंग्स इलेवन पंजाब : लोकेश राहुल (कप्तान), मयंक अग्रवाल, शेल्डन कॉटरेल, क्रिस गेल, ग्लेन मैक्सवेल, मोहम्मद शमी, मुजीब उर रहमान, करुण नायर, जेम्स नीशम, निकोलस पानन (विकेटकीपर), इशान पोरेल, अर्शदीप सिंह, मुरुगन अश्विन, कृष्णप्पा गौतम, हरप्रीत बरार, दीपक हुड्डा, क्रिस जॉर्डन, सरफराज खान, मनदीप सिंह, दर्शन नलकंडे, रवि बिश्नोई, सिमरन सिंह (विकेटकीपर), जगदीश सुचित, तजिंदर सिंह, हार्डस विलजोन।



और भी पढ़ें :