सुपरकिंग्स को हराकर मुंबई शान से फाइनल में

मुंबई| Last Updated: बुधवार, 20 मई 2015 (00:11 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई। सलामी बल्लेबाज के के बाद गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से 2013 की चैम्पियन मुंबई इंडियन्स ने इंडियन प्रीमियर लीग के पहले क्वालीफायर में यहां को 25 रन से हराकर तीसरी बार फाइनल में जगह बनाई।
मुंबई ने सिमंस (65) और कीरोन पोलार्ड (41) की आकर्षक पारियों की मदद से छह विकेट पर 187 रन बनाए और फिर लसिथ मलिंगा (23 रन पर तीन विकेट) और हरभजन सिंह (26 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी से चेन्नई सुपरकिंग्स को 19 ओवर में 162 रन पर समेट दिया।> >
चेन्नई की टीम ने नियमित अंतरराल पर विकेट गंवाए और वह कभी लक्ष्य को हासिल करने की स्थिति में नहीं दिखी। टीम की ओर सिर्फ फाफ डु प्लेसिस (45) ही टिककर बल्लेबाजी कर पाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरे सुपरकिंग्स की शुरुआत खराब रही और उसने पारी की चौथी गेंद पर ही ड्वेन स्मिथ (0) का विकेट गंवा दिया, जिन्हें मलिंगा ने पगबाधा आउट किया।
 
सलामी बल्लेबाज माइकल हसी (16) और डु प्लेसिस ने पारी को आगे बढ़ाया। हसी ने मिशेल मैकलेनाघन पर चौका जड़ा जबकि डु प्लेसिस ने इस तेज गेंदबाज की लगातार गेंदों पर छक्का और चौका मारा। हसी ने आर विनय कुमार पर मिड विकेट बांउड्री पर छक्का जड़ा लेकिन डु प्लेसिस इसी ओवर में भाग्यशाली रहे, जब थर्ड मैन पर मलिंगा ने उनका आसान कैच टपका दिया।
डु प्लेसिस ने मैकलेनाघन के अगले ओवर में तीन चौके मारे लेकिन विनय कुमार ने हसी को विकेटकीपर पार्थिव पटेल के हाथों कैच कराके चेन्नई का स्कोर दो विकेट पर 46 रन किया।
 
सुरेश रैना (20 गेंद में 25 रन) ने विनय कुमार पर छक्के के साथ छठे ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। ब्रावो ने 14वें ओवर में बायें हाथ के स्पिनर जगदीश सुचित की लगातार गेंदों पर छक्के और चौके के साथ टीम के रनों का सैकड़ा पूरा किया। 
 
सुचित ने हालांकि इसी ओवर में डु प्लेसिस को लांग ऑन पर विनय कुमार के हाथों कैच कराके चेन्नई को पांचवां झटका दिया। ब्रावो इसके बाद दो रन लेने की कोशिश में रन आउट हुए। उन्होंने 15 गेंद में 20 रन बनाए।
 
चेन्नई सुपरकिंग्स को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 67 रन की दरकार थी। विनय कुमार ने इसके बाद पवन नेगी (3) जबकि मैकलेनाघन ने रविंद्र जडेजा (19) को पैवेलियन भेजकर सुपरकिंग्स की रही सही उम्मीद भी तोड़ दी। 
 
रविचंद्रन अश्विन ने 12 गेंद में 23 रन की पारी खेलकर हार के अंतर को कुछ कम किया लेकिन मलिंगा ने उन्हें डीप मिडविकेट पर अंबाती रायुडू के हाथों कैच करा दिया। मलिंगा ने आशीष नेहरा :00: को सिमंस के हाथों कैच कराके चेन्नई की पारी का अंत किया।
 
इससे पहले सिमंस ने 51 गेंद में पांच छक्कों और तीन चौकों की मदद से 65 रन की पारी खेलने के अलावा पार्थिव पटेल (35) के साथ पहले विकेट के लिए 10.4 ओवर में 90 रन की साझेदारी भी की। पोलार्ड (17 गेंद में 41 रन, पांच छक्के, एक चौका) ने अंतिम ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए टीम का स्कोर 190 रन के करीब पहुंचाया। 
 
सुपरकिंग्स की ओर से ड्वेन ब्रावो सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 40 रन देकर तीन विकेट चटकाए। सिमंस ने इस बीच आशीष नेहरा :28 रन पर एक विकेट: पर दो चौके मारने के बाद अश्विन के तीसरे ओवर में दो छक्के मारे। दायें हाथ के इस बल्लेबाज ने नेहरा पर सीधा छक्का जड़ने के बाद पवन नेगी पर एक रन के साथ सातवें ओवर में टीम के 50 रन पूरे किए।
 
पार्थिव ने नेगी के अगले ओवर में मोर्चा संभालते हुए पहली तीन गेंद पर छक्का और दो चौके मारे। सिमंस ने मोहित शर्मा (33 रन पर एक विकेट) पर दो रन के साथ 38 गेंद में आईपीएल आठ का अपना पांचवां अर्धशतक पूरा किया। ब्रावो ने अपने पहले ही ओवर में पार्थिव को जडेजा के हाथों कैच कराया। पार्थिव ने 25 गेंद की अपनी पारी में चार चौके और एक छक्का मारा।
 
नेगी ने इसके बाद जडेजा की गेंद पर सिमंस का शानदार कैच लपककर चेन्नई को कुछ राहत दिलाई। कप्तान रोहित शर्मा (19) ने जडेजा पर छक्का जड़ा लेकिन ब्रावो की गेंद पर बाउंड्री पर जडेजा को कैच दे बैठे। पोलार्ड ने नेगी पर दो छक्के मारे। नेगी काफी महंगे साबित हुए और उन्होंने चार ओवर में 46 रन लुटाए। 
 
नेहरा ने हार्दिक पंड्‍या (1) को जडेजा के हाथों कैच कराके मुंबई को चौथा झटका दिया। पोलार्ड ने इसके बाद मोहित पर एक और ब्रावो पर दो छक्के मारे लेकिन वेस्टइंडीज के अपने इस हमवतन तेज गेंदबाज की गेंद पर सुरैना रैना को आसान कैच दे बैठे। मुंबई इंडियन्स ने 20 ओवर में 6 विकेट खोकर 187 रनों का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया था। (भाषा/वेबदुनिया न्‍यूज)



और भी पढ़ें :