1. खेल-संसार
  2. क्रिकेट
  3. आईपीएल 2015
  4. Chennai Super Kings
Written By
पुनः संशोधित शनिवार, 16 मई 2015 (19:42 IST)

पंजाब को हराकर चेन्नई 'आईपीएल प्लेऑफ' में

मोहाली। गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद फाफ डु प्लेसिस के अर्धशतक के दम पर चेन्नई सुपर किंग्स ने शनिवार को किंग्स इलेवन पंजाब को सात विकेट से हराकर शीर्ष टीम के रूप में आईपीएल प्लेऑफ में जगह बना ली। 
चेन्नई के गेंदबाजों के आगे बेबस नजर आए पंजाब के बल्लेबाज सात विकेट पर सिर्फ 130 रन ही बना सके। जवाब में चेन्नई ने जीत का लक्ष्य 16.5 ओवर में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया।  डु प्लेसिस ने 41 गेंद में पांच चौकों और एक छक्के के साथ 55 रन बनाए जबकि सुरेश रैना ने 34 गेंद में चार चौकों की मदद से नाबाद 41 रन जोड़े। 
 
आखिरी लीग मैच में मिली जीत के बाद चेन्नई के 14 मैचों में नौ जीत के बाद कुल 18 अंक रहे। आरसीबी और केकेआर के 13 मैचों में 15 अंक हैं जबकि सनराइजर्स हैदराबाद, मुंबई इंडियंस और राजस्थान रॉयल्स के 13 मैचों में 14 अंक हैं। पिछली उपविजेता पंजाब ने 14 मैचों में छह अंक के साथ टूर्नामेंट से विदा ली। 
 
इससे पहले अपने गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन के दम पर चेन्नई सुपर किंग्स ने किंग्स इलेवन पंजाब को सात विकेट पर 130 रन पर रोक दिया हालांकि अक्षर पटेल ने आखिरी ओवरों में आक्रामक पारी खेलकर मेजबान टीम को कम स्कोर पर सिमटने से बचाया। 
 
प्रतिष्ठा के लिए खेल रही पंजाब के छह विकेट 14वें ओवर में 78 रन पर गिर चुके थे लेकिन पटेल ने सातवें विकेट के लिए ॠषि धवन के साथ 44 रन जोड़कर टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। पटेल ने 29 गेंद में दो चौकों और एक छक्के की मदद से 32 रन बनाए, जबकि धवन 20 गेंद में एक चौके और दो छक्कों की मदद से 25 रन बनाकर नाबाद रहे। 
 
शीर्ष पर काबिज चेन्नई के गेंदबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। पवन नेगी ने चार ओवर में 25 रन देकर दो विकेट लिए जबकि अनुभवी स्पिनर आर अश्विन ने चार ओवर में सिर्फ 14 रन दिए और एक विकेट चटकाया।  
 
अंक तालिका में सबसे नीचे काबिज पंजाब के कप्तान जार्ज बेली ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया, लेकिन टीम को अच्छी शुरुआत नहीं मिल सकी।  सलामी बल्लेबाज रिधिमान साहा ने पवन नेगी को चौका और ईश्वर पांडे को अगले ओवर में छक्का जड़ा लेकिन तीसरे ओवर में नेगी को अपना विकेट गंवा बैठे।  उनका कैच कवर में ब्रेंडन मैकुलम ने लपका।  उस समय पंजाब का स्कोर 16 रन था। 
 
पांचवें ओवर में पंजाब को सबसे करारा झटका लगा जब कप्तान बेली ने आशीष नेहरा की गेंद पर विकेट के पीछे कैच थमा दिया।  उस समय स्कोर 31 रन था।  इसमें चार रन जुड़े थे कि मनन वोहरा भी अपना विकेट गंवा बैठे। 
 
अगले ओवर में पांडे की पहली ही गेंद पर वोहरा ने थर्डमैन में खड़े नेहरा को कैच पकड़ाया। गुरकीरत सिंह हाथ खोलते नजर आ रहे थे कि अश्विन ने चतुराई से उन्हें रवाना किया।  नौवें ओवर में अश्विन को चौका जड़ने के बाद अगली गेंद पर भी बढ़कर खेलने के प्रयास में वे चूके और धोनी ने चतुराई से गिल्लियां उड़ा दीं। 
 
पंजाब के चार विकेट 53 रन पर गिर चुके थे और दसवें ओवर में रवींद्र जडेजा ने ग्लेन मैक्सवेल को बोल्ड करके आधी टीम को 55 के स्कोर पर पैवेलियन भेज दिया।  आईपीएल के पिछले सत्र के हीरो डेविड मिलर को नेगी ने दूसरा शिकार बनाया।  मिलर ने हवा में शॉट खेला और जडेजा ने डीप मिडविकेट से भागते हुए उनका शानदार कैच लपका। (भाषा)