पेगासस मामले में NSO का बड़ा फैसला, कुछ सरकारी ग्राहकों को स्पाईवेयर का उपयोग करने से रोका

Last Updated: शनिवार, 31 जुलाई 2021 (13:20 IST)
वॉशिंगटन। पेगासस जासूसी कांड के केंद्र में मौजूद इसराइली साइबर सुरक्षा कंपनी ग्रुप (NSO) ने उसकी स्पाईवेयर (जासूसी सॉफ्टवेयर) प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर रहे दुनियाभर के अपने सरकारी ग्राहकों में से कई को इसका उपयोग करने से अस्थाई रूप से रोक दिया है। अमेरिकी मीडिया की खबर के मुताबिक कंपनी फिलहाल इसके
दुरुपयोगों की जांच कर रही है।
पेगासस सॉफ्टवेयर का भारत समेत कई अन्य देशों में पत्रकारों, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, नेताओं और कई अन्य की जासूसी के लिए उपयोग करने के आरोपों ने निजता से संबंधित मुद्दों को लेकर चिंता बढ़ा दी है। यह रोक मीडिया संगठनों के परिसंघ ‘पेगासस प्रोजेक्ट’ द्वारा जांच के जवाब में लगाई गई है जिसने जानकारी दी है कि कंपनी का हैकिंग और संभवत: निगरानी करने से जुड़ा है।

नेशनल पब्लिक रेडियो (एनपीआर) ने इजराइली कंपनी में एक स्रोत के हवाले से कहा, कुछ ग्राहकों की जांच की जा रही है। इनमें से कुछ उपयोगकर्ताओं द्वारा प्रयोग को अस्थाई रूप से रोका गया है। स्वतंत्र एवं गैर लाभकारी मीडिया संगठन की खबर के मुताबिक, सूत्रों ने सरकारी एजेंसियों या उन देशों के नाम नहीं बताए हैं जिन्हें एनएसओ ने अपने स्पाईवेयर के इस्तेमाल से फिलहाल रोका है। उन्होंने बताया कि इसराइली रक्षा नियम कंपनी को उसके ग्राहकों की पहचान करने से प्रतिबंधित करते हैं।
एनएसओ की जारी आंतरिक जांच में उन लोगों के टेलीफोन नंबर की जांच की गई है जिसे एनएसओ के ग्राहकों ने संभावित लक्ष्यों के तौर पर चिह्नित किया था। कर्मचारी ने कहा, हमने लगभग सारी चीजों की जांच की है, हमें पेगासस के साथ कोई संबंध नहीं मिला है। हालांकि उसने संभावित दुरुपयोग के बारे में विस्तार से बताने से इनकार कर दिया, जिसका एनएसओ को संभवत: पता चला हो।
कंपनी नीति के कारण नाम गोपनीय रखने की शर्त पर कर्मचारी ने कहा कि एनएसओ इस मामले पर अब मीडिया के सवालों का जवाब नहीं देगा और वह शातिर एवं निंदनीय अभियान का हिस्सा नहीं बनेगा। इसराइली सरकार को भी दबाव का सामना करना पड़ा है, क्योंकि वह अन्य देशों को स्पाइवेयर तकनीक की बिक्री को नियंत्रित करती है। इसने एनएसओ पर लगे आरोपों की जांच शुरू की है।
रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि इसराइली अधिकारियों ने कंपनी के संबंध में लगाए गए आरोपों का आकलन करने के लिए तेल अवीव के पास हर्जलिया में बुधवार को एनएसओ के कार्यालय का निरीक्षण किया था।एनएसओ कर्मचारी ने कहा कि कंपनी जांच में पूरा सहयोग कर रही है और इजराइली अधिकारियों के समक्ष साबित करना चाहती है कि मीडिया की खबरों में जिन लोगों के नाम सामने आए हैं वे पेगासस का निशाना नहीं थे।(भाषा)



और भी पढ़ें :