हिन्द महासागर के 10 रोचक तथ्य

भारत के एक ओर हिमालय तो तीन और है। भारत तीन ओर से समुद्र से घिरा है और जिसके 13 राज्यों की सीमा से समुद्र लगा हुआ है। दक्षिण में हिन्द महासागर, पश्‍चिम में अरब और पूर्व में बंगाल की खाड़ी है। आओ जानते हैं हिन्द माहासागर की 10 रोचक जानकारी।

1. धरती के 70.8% प्रतिशत भाग पर समुद्र है जिसमें से 14% भाग पर बसा है विराट हिंद महासागर का जल फैला है। इस महासागर को प्रायद्वीपीय भारत दो भागों मे क्रमशः बंगाल की खाड़ी एवं अरब सागर में बांट देता है।

2. यह महासागर क्षेत्रफल और विस्तार की दृष्टि से धरती का तीसरा सबसे बड़ा महासागर है। हिंद महासागर का क्षेत्रफल लगभग 7.4 करोड़ (73442700 वर्ग किमी) वर्ग किलोमीटर है।

3. यह महासागर दक्षिण में अंटार्टिका, उत्तर में भारत, पश्‍चिम में अफ्रीका और पूर्व ऑस्ट्रेलिया और इंडोनेशिया हैं। हिंद महासागर का अधिकांश भाग पृथ्वी के दक्षिणी गोलार्ध में आता है।

4. इस महासागर की गहराई 4 किलोमीटर (4000 मीटर) है। इस सागर के दर्शन आप कन्या कुमारी (तमिलनाडु) से कर सकते हैं।

5. हिंद महासगर को एक युवा महासागर माना जाता है जिसने मात्र 3.6 करोड़ वर्ष पहले ही अपना वर्तमान रूप ग्रहण किया है।

6. इस महासागर में स्थित अधिकांश द्वीप महाद्वीपीय खंडों से टूटकर अलग हुए भाग हैं जैसे- अंडमान तथा निकोबार द्वीप समूह, श्रीलंका, मेडागास्कर तथा जंजीबार।

7. यह अंध महासागर और प्रशांत महासागर से जुड़ा हुआ है। मतलब ये महासागर अंटार्कटिका महाद्वीप के निकट प्रशांत एवं अटलांटिक महासागर से मिल जाता है। हिन्द और प्रशांत महासागर का पानी आपस में मिश्रित नहीं होता है।

8. वैसे तो महासागरों का पानी एक ही दिशा में बहता है परंतु के पानी का बहाव गर्मी में भारत की ओर बहता है और सर्दियों में अफ्रीका की ओर बहता है।

9. इस महासागर में विश्व की दो बड़ी नदियां ब्रह्मपुत्र और गंगा की जलराशि विसर्जित हो जाती है। इस महासागर के अनेक चौड़े जलमग्न कटक और बेसीन हैं।

10. महासागर में जल की कुल मात्रा 292,131,000 घन किलोमीटर (70086000 घन मील) होने का अनुमान है।



और भी पढ़ें :