Blue Tea क्या है? इसके फायदे आपको हैरान कर देंगे

Blue Tea  
भारत में चाय को के रूप में पहचाना जाता है। दुनिया में भारत उन देशों में शुमार है जहां चाय का सेवन सबसे अधिक किया जाता है। भारत में चाय सिर्फ एक किस्म की नहीं बल्कि कई तरह से बनती है। जैसे- ग्रीन टी, ब्लैक टी, आइस टी, हर्बल टी आदि। लेकिन एक और नई तरह की चाय इन दिनों चर्चा में हैं। जिसका नाम है ब्लू टी। जी हां, अन्य चाय की तरह इसके भी अनेक फायदे हैं। हालांकि इस चाय के बारे में बहुत कम लोग अभी तक जानते हैं। तो आइए आज जान लेते हैं क्या है ब्लू टी और इसके फायदे -
 
ब्लू टी क्या है?
 
ब्लू टी को नीली चाय और बटरफ्लाई टी भी कहा जाता है। इसे बनाने के लिए बटरफ्लाई फ्लावर का इस्तेमाल किया जाता है। ब्लू टी बनाने के लिए एक कप पानी लें। उसे हल्का- सा गुनगुनाकर 4-5 बटरफ्लाई फ्लावर डालें और थोड़ी देर अच्छे से उबाल लें। इस चाय में हल्का सा शहद मिलाएं और गर्म चाय सर्व करें।
 
आइए जानते हैं ब्लू टी से होने वाले फायदे-
 
1.इम्युनिटी बूस्टर- ब्लू टी इम्युनिटी बूस्टर के तौर पर भी काम करती है। इसे पीने से एनर्जी मिलती है। साथ ही थकान महसूस नहीं होती है। इसमें मौजूद खुशबू दिमाग को तरोताजा रखती है।
 
2.वजन घटाएं- इसमें मौजूद तत्व मेटाबॉलिज्म को बढ़ाते हैं और फैट बर्न करने में मददगार होते हैं। जिससे आपका वजन तेजी से कम होता है। ग्रीन टी की तरह ही ब्लू टी भी वजन कम करने में सहायक होती है।
 
3.डिप्रेशन से बचाव- कई बार दिमाग में कुछ चीजें बुरी तरह से बैठ जाती है जिससे आपका मूड भी खराब हो जाता है और इंसान धीरे-धीरे डिप्रेशन में जाने लगता है। ब्लू टी की महक और इसके सेवन से डिप्रेशन कम करने में मदद करता है। इसकी महक से भी मूड परिवर्तित होता है।
 
4.माइग्रेन दर्द- लगातार माइग्रेन दर्द होने से किसी भी काम में मन नहीं लगता है। इसलिए दर्द को कम करने के लिए आप ब्लू टी का सेवन कर सकते हैं। इसमें मौजूद तत्व से माइग्रेन दर्द में आराम मिलेगा। इतना ही नहीं ब्लू का सेवन आप नॉर्मल सिरदर्द के दौरान भी कर सकते हैं।
 
5. झुर्रियों को करें कम- जी हां, असमय आपके चेहरे पर झुर्रिया आ गई है तो आप ब्लू टी का सेवन करें। इसके नियमित सेवन से चेहरे पर बढ़ रही झुर्रिया, फाइन लाइन्स को कम और ठीक करने में मदद करेगी।
 
6.बालों को मजबूत बनाएं- ब्लू टी के सेवन बालों की समस्या में राहत मिलती है। बाल मजबूत होते हैं। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट्स, खनिज तत्व और मिनरल्स अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। जिससे बालों को जरूरी पोषण मिलता है।
 
7.आंखों को बनाएं स्वस्थ- छोटी उम्र से ही बच्चों को चश्मे लग जाते हैं। विशेषज्ञों की मानें तो आप उन्हें यह थोड़ी मात्रा में दे सकते हैं। कुछ दिन दे कर यह भी देख लें कि बच्चों को कोई अन्य समस्या तो नहीं हो रही है। इसके सेवन से आंखों की रोशनी बढ़ने में मदद होती है। आंखों की थकावट और सूजन भी कम होता है। >




और भी पढ़ें :