त्योहारों पर ऐसे करें असली और नकली मावे की पहचान

nakli mave ko pahchanne ke tarike

त्योहारों का सीजन है, ऐसे में घर में तरह-तरह के पकवान और मिठाइयां तो बनती ही है, जिसके लिए अधिकांश लोग बाजार में मावा खरीदने निकलते हैं। लेकिन क्या आप मिलावट रहित असली मावा घर ला रहे हैं? कहीं आप नकली मावा तो नहीं घर ला रहे हैं? नकली मावा को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए हम आपको बताते हैं कि कैसे करे असली और नकली मावे की पहचान -
1 मावे का सैम्पल लेकर उसे टिकिया का आकार दें और इसमें आयोडीन टिंचर की 2 बूंदें डालें। 5 मिनट के लिए उसे ऐसे ही छोड़ दें। कुछ देर बाद इसमें अगर आयोडीन टिंचर के प्रभाव से मावे का रंग बदलने लगे या काला पड़ जाए तो समझ जाएं कि मावे में मिलावट है। लेकिन अगर आयोडीन टिंचर का रंग केसरिया ही बना रहता है तो मावा शुद्ध है।

2 मावे के सैम्पल में आयोडीन टिंचर मिलाने से अगर मावा काला पड़ जाए तो इसका मतलब ये भी हो सकता है कि मावे में मैदा मिला हो।
3 अगर मावा सफेद या हल्के पीले रंग का है तो वह भी मिलावटी हो सकता है।

4 असली मावे की महक बहुत अच्छी होती है जबकी सूंघने पर मिलावटी मावे की खुशबू अजीब-सी महसूस होती है।

5 अगर आप मावे को हाथ से रगड़े तो असली मावा घी छोड़ता है जिसकी महक से असली-नकली की पहचान की जा सकती है।

6 असली मावे को चखने पर उसका स्वाद अच्छा लगता है, लेकिन नकली होने पर स्वाद कड़वा लग सकता है।
7 असली मावा पानी में आसानी से घुल जाता है वहीं नकली मावे के साथ ऐसा होने में समय लग सकता है।


 

और भी पढ़ें :