Coronavirus: आयुष मंत्रालय ने जारी किए दिशा-निर्देश,बताए इम्युनिटी मजबूत करने के उपाय

इस वक्त पूरे विश्व में एक ही नाम गूंज रहा है और वह है कोरोना। इसकी दहशत दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं। लेकिन अगर कोरोना को हराना है तो हमें हमारी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ानी होगी जिससे कि कोरोना बेअसर हो जाए।
इसी बीच (Ayush Ministry) ने को ध्यान में रखते हुए और इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत करने के लिए कुछ उपायों के बारे में बताया है जिससे कि हम खुद की देखभाल कर सकें और खुद को अंदर से मजबूत बना सकें।
आयुष मंत्रालय ने मंगलवार को अपनी देखभाल हम कैसे कर सकते हैं तथा दिनचर्या में कुछ बदलाव करके इस बारे में जानकारी दी। खासतौर पर इन दिशा-निर्देशों में श्वसन संबंधी उपायों का जिक्र है। आयुष मंत्रालय ने जो दिशा-निर्देश जारी किए हैं, वे आयुर्वेदिक साहित्य और वैज्ञानिक प्रकाशनों पर आधारित हैं।

मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 के चलते दुनियाभर में लोग इससे काफी प्रभावित हैं। अच्छे स्वास्थ्य के लिए शरीर की प्राकृतिक रक्षा प्रणाली को मजबूत करना सबसे महत्वपूर्ण है। इसमें बताया गया है कि इलाज से बेहतर रोकथाम होती है। इसके लिए हमें अपनी इम्युनिटी को बढ़ाने की जरूरत है।
कुछ उपायों को बताते हुए आयुष मंत्रालय ने कहा है कि दिनभर गर्म पानी पीएं, कम से कम 30 मिनट तक योग का अभ्यास, प्राणायाम और ध्यान लगाना बहुत महत्वपूर्ण है। भोजन पकाने के समय इसमें हल्दी, जीरा और धनिया जैसे मसालों का इस्तेमाल करने की सलाह दी गई है।

इम्युनिटी को मजबूत करने के लिए मंत्रालय ने सुबह 1 चम्मच च्यवनप्राश खाने की सलाह दी है। जो डायबिटीज के रोगी हैं, उन्हें बिना शुगर वाला च्यवनप्राश खाने की सलाह दी गई है।
आयुष मंत्रालय ने अपनी गाइडलाइन में कहा है कि दिन में 1 या 2 बार हर्बल चाय पीएं या तुलसी, दालचीनी, कालीमिर्च, सूखी अदरक और किशमिश का काढ़ा पीने और 150 मिलीलीटर गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी डालकर पीने की सलाह दी है।

मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि सुबह और शाम अपने दोनों नथूनों में तिल या नारियल का तेल या घी लगाएं, जैसे कि आयुर्वेदिक उपाय बताए गए हैं। मंत्रालय के मुताबिक देशभर के जाने-माने डॉक्टरों ने इन उपायों के बारे में जानकारी दी है, जो व्यक्ति की इम्युनिटी को बढ़ाने में बेहद कारगर हैं।
सूखी खांसी के लिए दिन में 1 बार पुदीने की ताजा पत्ती या अजवाइन के साथ भाप लेने के बारे में भी बताया गया है, वहीं खांसी या गले में खराश होने पर दिन में 2-3 बार प्राकृतिक शकर या शहद के साथ लौंग का पाउडर लेने के लिए सलाह दी है।

मंत्रालय का कहना है कि ये उपाय आमतौर पर सामान्य सूखी खांसी या गले में सूजन इन उपायों से कम होती है। यदि लक्षण फिर भी बने रहते हैं और ठीक नहीं होते तो डॉक्टर को अवश्य दिखाएं।


और भी पढ़ें :