गुरुवार, 25 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. लाइफ स्‍टाइल
  2. वीमेन कॉर्नर
  3. फादर्स डे
  4. father's day par poem
Written By

Father’s Day Poem: फादर्स डे पर स्पेशल कविता

father's day poem
Father's Day 2023
'पापा कहते हैं बड़ा नाम करेगा, बेटा हमारा ऐसा काम करेगा' यह मशहूर गाना आपको जरूर अपने पिता की याद दिलाता होगा और शायद उनकी मार की भी। हमारे पिता हमारे भविष्य को लेकर अक्सर चिंतित रहते हैं। इस देश की तरह पिता भी हमारे परिवार के प्रधान मंत्री के सामान होते हैं। वो हमारे रोल मॉडल भी होते हैं और हमारे भविष्य को बनाने वाले भी। पिता के करैक्टर को डिस्क्राइब करना शायद एक आर्टिकल में संभव नहीं है। पर पिता के महत्वपूर्ण रोल को दर्शाने के लिए विश्वभर में हर साल फादर्स डे (father's day) मनाया जाता है। दरअसल जून के हर तीसरे रविवार को फादर्स डे मनाया जाता है। इस साल 2023 में 18 जून को फादर्स डे मनाया जाएगा। इस फादर्स डे पिता के महत्वपूर्ण रोल को दर्शाने के लिए हम आपके लिए लेकर आए हैं कुछ बेहतरीन कविता..........
पिता  नींव  घर  की
एक पिता बेटों को पाले
बचपन यौवन सभी संभाले।

उंगली थामे सबका प्यार
गोदी-गोदी लाड दुलार
किलकारी जो उसकी गूंजे
पूरा घर सुनने तैयार ।
आते हर संकट को टाले।

बीते बचपन आए जवानी
हर पल बनती नई कहानी,
शिक्षा के पूरे होते ही
रोजगार की खींचातानी।
सही राह भी खोज निकाले।

सर पर हो मां-बाप का साया
घनी धूप में जैसे छाया,
सूने-सूने घर में आखिर
किसको अकेला रहना भाया
पांव में ना पडने दे छाले।
father's day poem

पिता नींव घर की कहलाते
दुखदर्दों मे जो सहलाते,
घोर उदासी मायूसी में
मुस्काकर सबको बहलाते।
भले ही बादल छाएं काले।

सबको आना सबको जाना
नहीं किसी का यहां ठिकाना,
बुरे वक्त मे साथ निभाना
पिता ने अच्छे से पहचाना।
सबका जीवन उसके हवाले

वर्तमान कुछ भटक गया है
गलत राह पर अटक गया है
वृद्ध अकेले रह गए देखो
बोझ समझ के पटक गया है
दे जाता है कोई निवाले।

एक  पिता  बेटों  को  पाले
बचपन यौवन सभी संभाले। - प्रदीप नवीन
ये भी पढ़ें
झांसी की रानी लक्ष्मीबाई पर हिन्दी में निबंध