अहमदाबाद में 45 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए टीकाकरण का काम रुका, जानिए क्यों

Last Updated: मंगलवार, 4 मई 2021 (17:56 IST)
अहमदाबाद। के में टीके की अनुपलब्धता के कारण निगम के स्वास्थ्य केंद्रों पर 45 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए रोक ​दिया गया है। अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी। अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) की ओर से जारी बयान के अनुसार शहरी स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, निगम के अस्पतालों में टीकाकरण का कार्य अग्रिम पंक्ति के कर्मियों एवं स्वास्थ्यकर्मियों के लिए भी बंद कर दिया गया है।
ALSO READ:
CoronaVirus Live Updates : ब्रिटेन से आवश्यक चिकित्सकीय सामग्री लेकर चेन्नई पहुंचे वायु सेना के विमान

स्थानीय निकाय ने कहा कि नगर निगम को जैसे ही टीके मिलेंगे, योग्य लोगों के लिए टीकाकरण अभियान फिर से शुरू किया जाएगा। प्रदेश सरकार ने 1 मई से राज्य में 18 से 44 साल आयु वर्ग के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू किया है।
एएमसी ने कहा कि 18 से 44 साल के लोगों के लिए निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार अहमदाबाद में चिन्हित निजी एवं निगम के स्कूलों में टीकाकरण अभियान चल रहा है।

सूरत में भी 45 साल से अधिक उम्र वर्ग के लोगों के लिए 'कोविशील्ड' टीका लगाने की प्रक्रिया मंगलवार को रोक दी गई। सूरत नगर निगम ने बयान जारी कर इसकी जानकारी दी। निगम ने बताया कि टीकाकरण अभियान बुधवार को भी स्थगित रहेगा। निगम के अनुसार 45 साल से अधिक उम्र के लिए कोवैक्सीन टीकाकरण तथा 18 से 44 साल आयु वर्ग के लोगों के ​लिए कोविशील्ड टीकाकरण पूरे शहर में चल रहा है। गुजरात में सोमवार को 1,41,834 लोगों का टीकाकरण किया गया जिसके साथ ही प्रदेश में टीका ले चुके लोगों की संख्या बढ़कर 1,25,73,211 हो गई है। (भाषा)



और भी पढ़ें :