क्या चुनाव में मतदाता ने बैलेट बॉक्स में चिट्ठी डालकर मांगी बियर? फैक्ट चेक

पुनः संशोधित शनिवार, 8 जून 2019 (09:49 IST)
वम्सी चैतन्य पेडसनगंटी, टीम
दक्षिण भारतीय राज्यों में सोशल मीडिया पर एक कथित लेटर इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है कि तेलंगाना मंडल चुनावों के दौरान किसी वोटर ने में चिट्ठी डालकर सूबे के मुख्यमंत्री से उनके इलाके में उपलब्ध कराये जाने की मांग की है।
 
इस वायरल लेटर के अनुसार यह मामला तेलंगाना राज्य के जगित्याल जिले का है लेकिन सोशल मीडिया पोस्ट्स में इसे करीमनगर जिले की घटना बताकर भी शेयर किया जा रहा है।
 
एक साधारण कॉपी के पन्ने पर यह लेटर लिखा गया है जिसपर 6 मई 2019 तारीख डली हुई है। इस वायरल चिट्ठी को लिखने वाले ने इसे 'जगित्याल जिले की जनता' की तरफ से सूबे के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के लिए लिखा है।
 
चिट्ठी में लिखा है, 'हमारे जिले में किंगफिशर बियर का स्टॉक खत्म हो गया है। इस वजह से हमारे जिले के लोग बियर लेने के लिए दूसरे जिले में जा रहे हैं। इसलिए यह बियर हमारे राज्य में भी उपलब्ध कराई जाये।'
 
सोशल मीडिया पर यह चिट्ठी इतनी वायरल हुई कि स्थानीय मीडिया समेत टाइम्स ऑफ़ इंडिया जैसी नेशनल मीडिया न्यूज़ वेबसाइट्स पर भी इसे एक खबर के तौर पर पब्लिश किया गया है। इन वेबसाइट्स के अनुसार तेलंगाना मंडल चुनाव की काउंटिंग के दौरान चुनाव अधिकारियों को यह चिट्ठी मिली है। चुनाव आयोग के अनुसार तेलंगाना के जगित्याल जिले में 6 मई 2019 को मंडल चुनाव के लिए मतदान हुआ था।
 
बीबीसी के कई पाठकों ने तेलुगू भाषा में लिखी इस चिट्ठी को वॉट्सऐप के जरिए हमें भेजा है और इसकी सच्चाई जाननी चाही है। अपनी पड़ताल में हमने पाया कि इस चिट्ठी के साथ जिस तरह के दावे किये जा रहे हैं, वो फर्जी हैं।
 
चिट्ठी का जांच
सोशल मीडिया पर जिस कथित चिट्ठी की तस्वीर शेयर की जा रही है, उसके बारे में कहा जा रहा है कि ये चिट्ठी चुनाव आयोग के अधिकारियों को मिली थी और उन्होंने इसे जारी किया है। लेकिन इस चिट्ठी को देखकर यह लगता नहीं है कि इसे मोड़कर किसी बैलेट बॉक्स में डाला गया होगा क्योंकि तस्वीर में ये पन्ना (लेटर) कॉपी से जुड़ा हुआ दिखाई दे रहा है।
 
इस बात की आधिकारिक पुष्टि करने के लिए हमने तेलंगाना चुनाव आयोग और जगित्याल ज़िले के जॉइंट कलेक्टर से बात की। तेलंगाना चुनाव आयोग के सचिव एम अशोक कुमार ने बताया कि मंडल चुनाव के बैलेट बॉक्स ज़िला स्तर के अधिकारी के सामने खोले जाते हैं। इसलिए ऐसी किसी चिट्ठी की सूचना चुनाव आयोग को नहीं है जिसमें बियर की मांग की गई हो।
 
जगित्याल जिले के जॉइंट कलेक्टर बी राजेसम ने बीबीसी को बताया कि मंडल चुनाव की मतगणना के दौरान उन्हें एक लेटर बैलेट बॉक्स में पड़ा मिला था जिसे जगित्याल जिले के किसी लोकल आदमी ने लिखा था और उन्होंने प्रशासन से उनके इलाक़े में रोड बनाने की माँग की थी। लेकिन बियर वाली बात झूठ है।
 
पर क्या कभी ऐसा कोई वाकया हुआ है जिसमें किसी स्थानीय शख् ने ऐसी मांग रखी हो? इसके जवाब में जॉइंट कलेक्टर बी राजेसम ने कहा कि साल 2018 में 'प्रजा वाणी कार्यक्रम' के दौरान एक बुजुर्ग आदमी ने जिलाधिकारी को चिट्ठी लिखकर ऐसी मांग की थी कि उनके इलाके में शराब की सप्लाई दुरुस्त की जाये।
 
तेलंगाना राज्य में 'प्रजा वाणी कार्यक्रम' एक ऐसा आयोजन होता है जिसमें ज़िलाधिकारी अपने क्षेत्र के लोगों से मिलते हैं और उनकी समस्याओं को सुनते हैं।
 
जॉइंट कलेक्टर ने कहा कि ऐसा लगता है कि किसी ने जानबूझकर दोनों घटनाओं को मिक्स किया है और फर्जी खबर फैलाने की कोशिश की है।

और भी पढ़ें :