खंडग्रास सूर्य ग्रहण 2019 : साल के अंतिम सूर्य ग्रहण की खास बातें अभी से जान लीजिए



वर्ष 2019 में कुल 3 का संयोग बना। जिसमें से तीसरा सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर को लगेगा।
कब और किन-किन जगह लग रहा है सूर्य ग्रहण ?

वर्ष का तीसरा और अंतिम सूर्य ग्रहण 26 दिसंबर 2019 को लगेगा। यह होगा, जो भारतीय समयानुसार सुबह 08:17 से लेकर 10: 57 बजे तक रहेगा। यह ग्रहण भारत के साथ पूर्वी यूरोप, एशिया, उत्तरी/पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया और पूर्वी अफ्रीका में दिखाई देगा।
यह सूर्य ग्रहण धनु राशि और मूल नक्षत्र में लगेगा। धनु राशि तथा मूल नक्षत्र से संबंधित व्यक्तियों के जीवन पर इसका प्रभाव पड़ेगा। इन राशियों और नक्षत्र से संबंधित लोगों को सूर्य ग्रहण के समय सतर्क रहने की आवश्यकता है।

वर्ष 2019 का अंतिम और एक मात्र सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई देगा, इसलिए यहां पर इस ग्रहण का सूतक भी लागू होगा। सूर्य ग्रहण का सूतक काल 25 दिसंबर 2019 को शाम 05:33 से प्रारंभ होकर 26 दिसंबर 2019 को सुबह 10:57 बजे तक रहेगा।
वलयाकार सूर्य ग्रहण कब होता है ?

वलयाकार सूर्य ग्रहण उस समय घटित होता है, जब चंद्रमा पृथ्वी से बहुत दूर होते हुए भी पृथ्वी और सूर्य के बीच में आ जाता है। इस कारण चंद्रमा पूरी तरह से पृथ्वी को अपनी छाया में नहीं ले पाता है। वलयाकार सूर्य ग्रहण में सूर्य के बाहर का क्षेत्र प्रकाशित होता रहता है। इस घटना को वलयाकार सूर्य ग्रहण कहते हैं।
आइए जानते हैं वर्ष के अंतिम सूर्य ग्रहण के बारे में खास बातें:
यह सूर्य ग्रहण खंडग्रास सूर्य ग्रहण यानी आंशिक होगा।

सूर्य ग्रहण का प्रारंभ: सुबह 08 बजकर 17 मिनट पर होगा।

परमग्रास: सुबह 09 बजकर 31 मिनट पर।

सूर्य ग्रहण का समापन: सुब​ह 10 बजकर 57 मिनट पर होगा।

सूर्य ग्रहण का कुल समय: 02 घंटे 40 मिनट 02 सेकेंड।

सूतक प्रारंभ: 25 दिसंबर दिन बुधवार को शाम 5 बजकर 31 मिनट से।

सूतक समापन: 26 दिसंबर दिन गुरुवार को सुबह 10 बजकर 57 मिनट पर।




और भी पढ़ें :