1. खेल-संसार
  2. »
  3. क्रिकेट
  4. »
  5. विश्वकप 2011
Written By वार्ता
पुनः संशोधित गुरुवार, 31 मार्च 2011 (16:16 IST)

मुंबई में फाइनल का सपना पूरा हुआ-सचिन

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर ने पाकिस्तान के खिलाफ बुधवार को सेमीफाइनल में भारत की शानदार जीत के बाद कहा कि उनका अब अपने गृहनगर मुंबई में विश्वकप का फाइनल खेलने का सपना पूरा होने जा रहा है।

अपनी 85 रन की पारी से 'मैन ऑफ द मैच' बने सचिन ने भारत की 29 रन की जीत का श्रेय टीम प्रयास को देते हुए कहा हमने गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण में बेहतरीन प्रदर्शन किया। वीरू ने हमें तेजतर्रार शुरुआत दी जिससे मध्य ओवरों में जब गेंद रूककर आ रही थी तब हमें अपनी पारी को व्यवस्थित करने का पूरा मौका मिल गया।

सचिन ने कहा जैसी हमारी शुरुआत हुई थी उससे मुझे लग रहा था कि हम 310 से 315 के स्कोर तक पहुँच सकते हैं लेकिन नियमित अंतराल पर विकेट गिरने से हमारी रन गति कुछ धीमी हुई और विकेट भी पहले जैसा नहीं रह गया। ऐसी स्थिति में 260 का स्कोर भी चुनौतीपूर्ण स्कोर बन गया।

मास्टर ब्लास्टर ने कहा हमारा लक्ष्य था कि पूरे 50 ओवर खेलें ताकि हम एक अच्छे स्कोर तक पहुँच सकें। खासकर सुरेश रैना ने स्लॉग ओवरों में विशेष पारी खेली। सचिन ने 1992 से अब तक विश्वकप में पाकिस्तान के खिलाफ सभी पाँच जीतों में भारतीय टीम का हिस्सा बने रहने को अपने लिए यादगार बताया और साथ ही भारी संख्या में पीसीए स्टेडियम में मौजूद समर्थकों को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि आपके समर्थन के बिना यह जीत संभव नहीं हो पाती। (वार्ता)