मोहाली में पुलिस से उलझे क्रिकेटप्रेमी

मोहाली| वार्ता| पुनः संशोधित सोमवार, 28 मार्च 2011 (16:15 IST)
हमें फॉलो करें
भारत और पाकिस्तान के बीच बुधवार को यहाँ पीसीए स्टेडियम में होने वाले विश्वकप सेमीफाइनल की टिकटों के लिए मची मारामारी को लेकर आज क्रिकेटप्रेमी पुलिस से उलझ पड़े। भारत में यह तीसरा मौका है जब बेंगलुरू और नागपुर के बाद क्रिकेटप्रेमियों को टिकटों के लिए पुलिस से जूझना पड़ा।


पीसीए स्टेडियम के बाहर अनियंत्रित हो गई भीड़ ने पुलिस पर पत्थर फेंके जबकि घोड़ों पर सवार पुलिसकर्मियों ने भीड़ को नियंत्रित करने की कोशिश की।

यह घटना उस समय हुई जब एक स्थानीय टीवी चैनल ने खबर दी कि कुछ हजार और टिकट मैच के लिए जारी किए जाएँगे। इस खबर के बाद क्रिकेटप्रेमी पीसीए स्टेडियम के बाहर जुटने शुरू हो गए जबकि पंजाब क्रिकेट संघ (पीसीए) के प्रवक्ता ने जोर देकर कहा कि टिकटों की कोई बिक्री नहीं की जानी थी।

टिकटों के लिए बेकाबू क्रिकेटप्रेमी पीसीए स्टेडियम के बाहर तो पहुँच गए और टिकटें न मिलती देख उनकी पहले सुरक्षाकर्मियों से बहस हुई और फिर झडप हो गई।


बेंगलुरू और नागपुर में भी कुछ ऐसा ही दृश्य देखने को मिला था जब वहाँ पुलिसकर्मियों ने क्रिकेटप्रेमियों को खदेड़ने के लिए लाठीचार्ज किया था।
मोहाली के पीसीए स्टेडियम की दर्शक क्षमता 28000 है और इसके सारे टिकट पहले ही बेचे जा चुके हैं। हालाँकि यह जानकारी कोई नहीं दे रहा है कि आम जनता को कितने टिकट बेचे गए हैं। ऐसी खबरें सामने आ रही हैं कि कालाबाजारी कुछ टिकटों की कीमत 100 गुना ज्यादा वसूल कर रहे हैं।

दरअसल भारत और पाकिस्तान के बीच सेमीफाइनल को लेकर यहाँ इतना जबर्दस्त माहौल बन चुका है कि क्रिकेटप्रेमी हर कीमत पर इस मैच को देखने की कोशिश में जुटे हुए हैं कि कहीं से उन्हें टिकट हाथ लग जाए। (वार्ता)



और भी पढ़ें :