पाकिस्तान ने श्रीलंका को 11 रन से हराया

‍यूनिस-मिस्बाह में शतकीय साझेदारी

yunuis
कोलंबो| भाषा|
हमें फॉलो करें
FILE
मिस्बाह उल हक और यूनिस खान के जुझारू अर्धशतकों के बाद कप्तान शाहिद अफरीदी की अगुआई में अनुशासित गेंदबाजी के दम पर ने आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के ग्रुप ए के रोमांचक मैच में शनिवार को श्रीलंका को 11 रन से हराकर लगातार दूसरी जीत दर्ज की।


पाकिस्तान ने मिस्बाह की नाबाद 83 और यूनिस की 72 रन की पारी की मदद से सात विकेट पर 277 रन बनाने के बाद अफरीदी (33 रन पर चार विकेट) की शानदार गेंदबाजी की मदद से श्रीलंका को नौ विकेट पर 266 रन पर रोक दिया। इससे पहले पाकिस्तान ने अपने पहले मैच केन्या को 205 रन से हराया था।

श्रीलंका की ओर से चामरा सिल्वा ने 57, कुमार संगकारा ने 49 जबकि तिलकरत्ने दिलशान ने 41 रन की पारी खेली लेकिन यह टीम का जीत दिलाने के लिए नाकाफी था।

तिलकरत्ने दिलशान (41) और उपुल थरंगा (33) की जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 76 रन जोड़कर मेजबान टीम को अच्छी शुरुआत दिलाई। श्रीलंका की टीम हालाँकि इसके बाद 19 रन पर चार विकेट गँवाकर बैकफुट पर आ गई।


मोहम्मद हफीज ने थरंगा को आउट करके पाकिस्तान को पहली सफलता दिलाई जो इस ऑफ स्पिनर की गेंद को ड्राइव करने के प्रयास में मिड ऑफ पर अफरीदी को कैच दे बैठे। दिलशान इसके बाद अफरीदी की गेंद को कट करने के प्रयास में बोल्ड होकर पैवेलियन लौटे।
शोएब अख्तर ने महेला जयवर्धने (2) को बोल्ड किया जबकि अफरीदी ने तिलन समरवीरा (1) को स्टंप कराके टीम का स्कोर चार विकेट पर 96 रन कर दिया।

कप्तान संगकारा और सिल्वा ने पाँचवें विकेट के लिए 73 रन जोड़कर टीम को संकट से उबारने की कोशिश की। इस साझेदारी के दौरान पाकिस्तान के गेंदबाजों ने रन गति पर अंकुश लगाकर रखा और 16.2 ओवर में सिर्फ दो चौके और एक छक्का लगा जो कप्तान के बल्ले से निकला।

संगकारा ने 34वें ओवर में बल्लेबाजी पावर-प्ले लिया लेकिन टीम इन पाँच ओवरों में 35 रन ही जुटा सकी। संगकारा इस बीच भाग्यशाली रहे जब 33 रन के निजी स्कोर पर रहमान की वाइड गेंद पर कामरान अकमल ने उन्हें स्टंप करने का बेहद आसान मौका गँवा दिया। रहमान ने अगले ओवर में उमर गुल की गेंद पर मिडविकेट पर सिल्वा को भी जीवदान दिया।
संगकारा हालाँकि जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाए और अफरीदी की गेंद को उठाकर मारने के प्रयास में लांग ऑन पर अहमद शहजाद को कैच दे बैठे। अफरीदी का एकदिवसीय मैचों में यह 300वाँ विकेट था। संगकारा ने 61 गेंद की अपनी पारी में दो चौके और एक छक्का मारा।

श्रीलंका को आखिरी 10 ओवर में जीत के लिए 100 रन की दरकार थी। सिल्वा और एंजेलो मैथ्यूज (17) ने 43वें ओवर में रहमान पर तीन चौके जड़े। अफरीदी ने हालांकि अगले ओवर में मैथ्यूज को लांग आफ बाउंड्री पर शहजाद के हाथों कैच करा दिया। शोएब ने इसके बाद तिषारा परेरा (8) को बोल्ड किया जबकि रहमान ने सिल्वा को स्टंप कराया। उन्होंेने 78 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके मारे।
टीम को अंतिम ओवर में जीत के लिए 18 रन की दरकार थी लेकिन नुवान कुलशेखरा :14 गेंद में 24 रन: और रंगना हेराथ :नाबाद 04: भरसक कोशिश के बावजूद लक्ष्य हासिल नहीं कर सके। इससे पहले पाकिस्तान के लिए मिस्बाह और यूनिस ने चौथे विकेट के लिए 20.3 ओवर में 108 रन की साझेदारी भी की। मिस्बाह ने 91 गेंद की अपनी पारी के दौरान छह चौके मारे जबकि यूनिस ने 76 गेंद का सामना करते हुए चार चौके जड़े।
हफीज कामरान के साथ गलतफहमी का शिकार होकर रन आउट हुए। कामरान भी इसके बाद रंगना हेराथ की गेंद को आगे बढ़कर खेलने के प्रयास में चूक गये और संगकारा ने उन्हें स्टंप कर दिया जिससे टीम का स्कोर तीन विकेट पर 105 रन हो गया।

यूनिस और मिस्बाह की जोड़ी ने यहीं से शतकीय साझेदारी करके पाकिस्तान की पारी को सँवारा। पाकिस्तान के बल्लेबाज 20वें ओवर से 27वें ओवर तक एक भी बाउंड्री नहीं जड़ पाए। मिस्बाह ने तिलकरत्ने दिलशान की गेंद पर चौके के साथ बाउंड्री के सूखे को खत्म किया जबकि यूनिस ने भी एंजेला मैथ्यूज और परेरा की गेंदों पर चार रन बटोरे।
यूनिस ने हेराथ की गेंद पर एक रन के साथ 56 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया। इन दोनों बल्लेबाजों ने 39वें ओवर में टीम का स्कोर 200 रन के पार पहुँचाया। यूनिस शॉर्ट फाइन लेग पर महेला जयवर्धने को कैच देकर पैवेलियन लौटे। उन्होंने 76 गेंद की अपनी पारी में चार चौके मारे।

मुरलीधरन ने इसके बाद उमर अकमल (10) को बाउंड्री के समीप दिलशान के हाथों कैच कराया। पाकिस्तान ने 44वें ओवर से बल्लेबाजी पावर-प्ले लिया जिसमें टीम ने 36 रन जोड़े। मिस्बाह ने इस दौरान कप्तान शाहिद अफरीदी (16) के साथ मिलकर कुछ आकषर्क शॉट खेले।
श्रीलंका की ओर से रंगना हेराथ ने 46 रन देकर दो विकेट चटकाए जबकि स्टार स्पिनर मुथया मुरलीधरन ने 10 ओवर में सिर्फ 35 रन देकर एक विकेट हासिल किया। (भाषा)



और भी पढ़ें :