हावी न हो बाजारवाद

खंडवा | Naidunia| पुनः संशोधित शुक्रवार, 2 मार्च 2012 (00:42 IST)
वैश्वीकरण के इस दौर में व्यावसायिक प्रतिस्पर्धा के साथ नैतिकता भी जरूरी है। बाजारवाद को व्यवहार पर कभी हावी न होने दें, ग्राहक के प्रति आदर भाव रखें, बहुराष्ट्रीय कंपनियों से मुकाबले के लिए आपको को भी अत्याधुनिक सुविधाओं एवं संसाधनों को अपनाना होगा।


ये व्यापारिक गुर बुरहानी बिजनेस सेमीनार (व्यापार संगोष्ठी) में सजातीय बंधुओं को बिजनेस एक्सपर्ट शब्बर भाई सुतरवाला (मुंबई) ने दिए। दाउदी बोहरा जमात के आका मौला डॉ. सैयदना बुरहानुद्दीन साहब की 101वीं सालगिरह के उपलक्ष्य में गुरुवार को खंडवा के गौरीकुंज सभागृह में बोहरा समाज के अनुयायी बड़ी तादाद में जुटे।

सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा की गूँज के साथ कार्यक्रम की शुरूआत हुई। समाज के स्काउट बैंड की सुरीली तान के बीच अतिथियों की अगवानी की गई। आरंभ में मोहम्मद जैनुद््‌दीन हैदरी ने तिलावते पाक का वाचन किया और बाद में कशिदा तिलावत हुई। कार्यक्रम में महापौर भावना शाह, कलेक्टर कवीन्द्र कियावत, एसपी हरिनारायणचारी मिश्र, शहर के गणमान्यजन एवं सजातीय बंधुओं ने शिरकत की।

स्वागत उद्बोधन बोहरा समाज के सचिव जोएबभाई भामगढ़वाला ने दिया। पश्चात कलेक्टर ने अपने उद्बोधन में बोहरा समाज को शिक्षित एवं शांतिप्रिय कौम बताते हुए इस सेमिनार से समाज को नई दिशा मिलने की उम्मीद जताई। उन्होंने खंडवा में हवाई पट्टी के पुनर्निर्माण का प्रस्ताव शासन के समक्ष रखने का आश्वासन दिया। महापौर श्रीमती शाह ने बोहरा समाज की एकजुटता एवं अनुशासन पसंदगी की प्रशंसा की तथा समाज से प्लास्टिक का उपयोग बंद करने में सहयोग का आह्वान किया। पुलिस अधीक्षक श्री मिश्र ने बोहरा समाज के युवाओं को प्रोत्साहित करते हुए वर्तमान आधुनिक युग में तकनीक का उपयोग कर अपने व्यापार को और अधिक ऊँचाई देने के लिए प्रोत्साहित किया।

आमील साहब ने अपने उद्बोधन में धर्मगुरु डॉ. सैयदना साहब की लंबी उम्र के लिए दुआ करते हुए अतिथियों का आभार व्यक्त किया। इसके पश्चात बिजनेस सेमीनार का शुभारंभ वक्ता शब्बर भाई सुतरवाला (मुंबई) ने किया। उन्होंने धर्मगुरु सैयदना साहब की मंशानुसार सजातीय बंधुओं को नौकरी की बजाय व्यवसाय को अपनाने की सीख के साथ ही प्रोजेक्टर की मदद से व्यापार के संबंध में अपने उद्बोधन प्रस्तुत किए। कार्यक्रम के दौरान दोपहर की नमाज गौरीकुंज सभागृह में ही अदा की गई। करीब 6 घंटे के बिजनेस सेमीनार पश्चात इब्राहिम खाचरोदवाला ने आभार व्यक्त किया।

कार्यक्रम को सफल बनाने में कार्यकारिणी सदस्य मोईज हैदरी, इब्राहिम खाचरोदवाला, मुस्तफा लोखंडवाला, रज्जब अली, हकीम बाटा, ताहेर सैफी, अमीर अली, शब्बीर सैफी, मुस्तफा सैफी, अब्देअली, युसूफ सैफी, युसूफ बसरावाला, मु. बुरहानुद्दीन, मोहम्मद हैदरी, अब्बास पेनवाला, ताहेर जीनाभाई बुरहान कपड़ावाला, होजेफा फर्सीवाला, हुसैन तेजाबवाला, जुजर नलवाला, युसूफ काँचवाला, मुस्तफा नारियलवाला का उल्लेखनीय योगदान रहा। -निप्र



और भी पढ़ें :