जानिए, भारत के छ: महान दार्शनिकों को..

WD|
FILE
विश्व और भारत का दर्शन और धर्म इन छ: ऋषियों के विचारों के आधार पर ही विकसित हुआ है। हालांकि वेदों में सभी तरह के धार्मिक विचार और दर्शन की चर्चा मिलती है, लेकिन हमारे इन छ: ऋषियों ने वेदों के ही इन दर्शन और धर्म को अच्‍छे से विकसित किया और उसका एक संप्रदाय खड़ा कर एक परंपरा विकसित की।

कहना चाहिए कि भारतीय ऋषियों ने जगत या ईश्वर के रहस्य को छ: कोणों से समझने की कोशिश की है। ये छ: कोण ही आज दुनियाभर के दर्शन और धर्म का आधार हैं।

अगले पन्ने पर पढ़ें, पहले ऋषि की विचारधारा...



और भी पढ़ें :