बुश की टिप्पणी पर बिफरा चीन

बीजिंग (वार्ता)| वार्ता|
बीजिंग ओलिम्पिक खेलों के आयोजक चीन ने अपने यहाँ से निर्वासित किए गए कुछ राजनीतिक नेताओं के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति जार्जडब्ल्यू बुश की मुलाकात पर कड़ा ऐतराज जताते हुए कहा है कि इससे चीन विरोधी ताकतों को काफी गलत संकेत भेजा गया है।

चीन की सरकारी संवाद समिति शिन्हुआ ने गुरुवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लियू जियानचाओ के हवाले से कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने निर्वासित चीनी नेताओं के साथ बैठक में चीन के मानवाधिकार रिकॉर्ड पर टिप्पणी कर उसके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप किया है।

बुश ने गत मंगलवार को चीन के विदेशमंत्री यांग जिएची के साथ मुलाकात करने के अलावा वहाँ के कुछ निर्वासित नेताओं को भी बातचीत के लिए बुलाया था। अपने खराब मानवाधिकार रिकॉर्ड के लिए विख्यात चीन को यही बात नागवार गुजरी है।
बुश ने इस बैठक में निर्वासित चीनी नेताओं के साथ चीन में मानवाधिकार की स्थिति पर बातचीत की। उन्होंने आश्वासन दिया कि अगले सप्ताह बीजिंग ओलिम्पिक के उद्घाटन समारोह में जाने पर वे अभिव्यक्ति की आजादी का संदेश मुखर करेंगे।

इससे पहले बुश ने मानवाधिकार आंदोलन से जुड़े लोगों की माँग को खारिज करते हुए ओलिम्पिक उद्घाटन समारोह का बहिष्कार करने से इनकार कर दिया था। उन्होंने कहा था कि ऐसा करने से चीनी अवाम की भावनाओं का अनादर होगा।



और भी पढ़ें :