अखिल और जितेंद्र के बाद विजेंद्र का जलवा

बीजिंग (भाषा)| भाषा|
हमें फॉलो करें
भारतीय मुक्केबाजों ने शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए देश को ओलिम्पिक पदक दिलाने की उम्मीदों को बरकरार रखा है। विजेंद्रकुमार शनिवार को यहाँ बीजिंग ओलिम्पिक के क्वार्टर फाइनल में पहुँचने वाले तीसरे मुक्केबाज बने।


हरियाणा के इस मुक्केबाज ने पूरी बाउट में दबदबा बनाए रखा और 75 किग्रा मिडिलवेट स्पर्धा में थाईलैंड के अंगखन चोमफुफुआंग को एकतरफा मुकाबले में 13-3 से शिकस्त देकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।

अगर वे क्वार्टर फाइनल में इक्वाडोर के कार्लोस गोंगोरा के खिलाफ होने वाले मुकाबले में जीत दर्ज कर लेते हैं तो भारत के लिए एक पदक पक्का हो जाएगा। विजेंद्र इस जीत से अखिल कुमार (54 किग्रा) और जितेंद्र (51 किग्रा) के साथ क्वार्टर फाइनल में पहुँचने वाले तीसरे मुक्केबाज बने।

विजेंद्र ने यहाँ प्री क्वार्टरफाइनल स्पर्धा में शुरू से आक्रामक रुख बनाए रखा और अपनी नियंत्रित आक्रामकता के साथ शानदर रिफलेक्स से थाईलैंड के मुक्केबाज को कोई मौका नहीं दिया, जिससे वे असानी से जीत दर्ज करने में सफल रहे।


पहले राउंड में सतर्क शुरुआत के बाद विजेंदर ने 2-0 की बढ़त बना ली थी। विजेंद्र ने दूसरे राउंड में इस बढ़त को 6.1 कर दिया।
तीसरा राउंड हालाँकि बिलकुल एक तरफा रहा, जिसमें थाईलैंड के मुक्केबाज ने वापसी करने की कोशिश की, लेकिन भारतीय खिलाड़ी के फुटवर्क के सामने उसके पंच नाकाम साबित हुए। अंगखान तीसरे राउंड में एक भी अंक हासिल नहीं कर पाए, जबकि विजेंद्र ने चार अंक हासिल कर बढ़त 10-1 की कर ली। विजेंद्र ने तीन सटीक पंच जमाकर 13-3 से जीत दर्ज की।



और भी पढ़ें :