गिरजाघरों में बढ़े श्रद्धालु

अमेरिका में आर्थिक संकट

ND|

पश्चिमी देशों में आर्थिक मंदी के दौर में नौकरियाँ बचाने के लिए लोग जीतोड़ मेहनत कर रहे हैं। जिनका भाग्य अच्छा है, वे अपनी रोजी-रोटी कमाने के लिए भगवान का धन्यवाद कर रहे हैं और जिनकी किस्मत अच्छी नहीं है, वे भगवान के दर पर आकर आशा की किरण देखते हैं। कहा जाता है कि जब हर ओर से अंधेरा ही अंधेरा हो तो भगवान ही याद आते हैं।

एक अध्ययन के मुताबिक अमेरिका में आर्थिक संकट शुरू होने के बाद गिरजाघरों में श्रद्धालुओं की संख्या अचानक बढ़ गई है।

कई मिशनरी केंद्रों के सामने दो वक्त की रोटी और सिर पर छत की माँग करने वालों की कतार लंबी होती जा रही है। इसके साथ ही शेयर बाजार और पूंजीवाद की ठोकरों से बेचैन और दुखी लोगों को मानसिक सहारा देने वालों की भी कमी अब खलने लगी है।



और भी पढ़ें :