दृढ़ संकल्प प्राप्त करने का सूत्र

पुस्तक 'सकारात्मक सोच की कला' से अंश...

संत-महात्मा उस अवस्था में आ जाते हैं जहाँ वे अहंकारिक संकल्प को पूरी तरह से नियंत्रित कर उसे निष्क्रिय बना देते हैं। इसके विपरीत के अनुभव करते हैं, 'यह मेरी इच्छा नहीं, ईश्वरेच्छा बने।' अपने अंदर अत्यंत संकल्प शक्ति प्राप्त करने के लिए उपरोक्त के आधार पर आपको कुछ निर्देश दिए जा रहे हैं।



और भी पढ़ें :