गुरुदेव की रचनाएँ

पुण्यतिथि पर विशेष

घिर आई आसाढ़ी संध्य
मत जाओ तुम मुझको यों ठुकरा कर।



और भी पढ़ें :