बढ़ती उम्र का आहार

WDWD
वृद्धावस्था में आहार के प्रति अनुराग भले ही कम हो जाए, लेकिन उसकी जरूरत हमेशा बनी रहती है। हर उम्र में उचित पोषण स्वस्थ रहने की कुँजी है। चयापचय क्रिया में कमी आने के कारण पोषक तत्वों की जरूरत पहले की अपेक्षा कहीं बढ़ जाती है।

उम्र के अनुसार ही व्यक्ति का शारीरिक व मानसिक विकास होता है जैसे बाल्यावस्था में शारीरिक व मानसिक वृद्धि की गति बहुत तेज होती है। फलस्वरूप इस अवस्था में सभी पोषक तत्वों की अति आवश्यकता होती है। 40 वर्ष की उम्र के बाद व्यक्ति की चयापचय क्रिया में धीरे-धीरे कमी होने के कारण कुछ पोषक तत्वों की शरीर में कम मात्रा में आवश्यकता होती है।

कैलोरी

बढ़ती उम्र में कम कैलोरी युक्त आहार का सेवन करना चाहिए, क्योंकि इस अवस्था में शारीरिक कार्य में कमी होने लगती है। अतः मिठाई, शकर, गुड़, तले हुए खाद्य पदार्थ का कम सेवन करना चाहिए ताकि शरीर स्वस्थ व तंदुरुस्त रहे।

प्रोटीन

प्रोटीन का कार्य शरीर में टूटी-फूटी कोशिकाओं की मरम्मत करना है। इस उम्र में 40 ग्राम प्रतिदिन प्रोटीन की आवश्यकता होती है, जो कि आहार में दालों, दूध, अंडे का समावेश करने से पूर्ण हो सकती है।

वसा

WD|
संगीता माल
WDWD
20 से 25 ग्राम (3 से 4 चाय के चम्मच) तेल या घी का आहार में समावेश करने पर वसा की पूर्ति हो सकती है। अधिक वसायुक्त खाद्य पदार्थ जैसे तले हुए समोसे, कचोरी, घी वाली मिठाइयाँ, मेवा, मक्खन आदि बहुत कम मात्रा में लेना चाहिए, क्योंकि बढ़ती उम्र के साथ-साथ पाचनक्षमता में भी कमी आने के कारण वसा पर्याप्त रूप से पाचित नहीं हो पाता।



और भी पढ़ें :