डायबिटीज और फायदेमंद मसाले

डॉ. हेमंत शर्मा

हल्दी
WD|
ND
वैसे तो मधुमेह रोग का उपचार सभी चिकित्सा पद्धतियों से किया जाता है किंतु हमारे दैनिक आहार और मसालों में मधुमेह रोग एवं उससे होने वाले उपद्रवों की रोकथाम व नियंत्रण की अद्भुत क्षमता पाई जाती है।

हल्दी : मधुमेह रोगी यदि प्रतिदिन आधा चम्मच हल्दी का सेवन करे तो फायदा होगा। हल्दी एक उत्तम जैव-प्रतिरोधी मसाले के रूप में विख्यात है। इसके नियमित सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। घाव या चोट पकने नहीं पाता, किसी कारण से लगी अंदरूनी मार भी शीघ्र ठीक हो जाती है।

तेजपान
ND
तेजपान : तेजपान का सेवन भी मधुमेह नियंत्रण के लिए उत्तम फलदायी है। एक गिलास पानी में तेजपान का बारीक चूर्ण रात को गला दें। सवेरे उसे छानकर खाली पेट पीने से रक्त में शकर की मात्रा का नियंत्रण होता है। चूर्ण की मात्रा आधा से एक चम्मच तक ली जा सकती है।
हरी मिर्च
ND
हरी मिर्च : प्रतिदिन भोजन के साथ दो-तीन ताजी हरी मिर्च कच्ची सेवन करने से मधुमेह रोग में अच्छा लाभ होता है। हरी मिर्च विटामिन 'सी' का अच्छा स्रोत होने के साथ-साथ पाचक ग्रंथियों के लिए भी उत्तेजक है एवं कब्ज को दूर करती है। उल्लेखनीय है कि मधुमेह रोगी को कब्ज और अपच की शिकायत आम होती है।
आँवला
ND
आँवला : आँवला आयुर्वेद के ग्रंथों में 'रसायन' संज्ञा में वर्णित है जिसका अर्थ बुढ़ापे को रोकने वाला पदार्थ है। प्रतिदिन आधा चम्मच आँवला हल्दी के साथ उपयोग करने से दाँत मजबूत होते हैं, धमनियों व शिराओं की कोमलता बनी रहती है, नेत्र ज्योति तेज होती है व चेहरे पर कांति आती है।
मधुमेह रोग शरीर पर बहुत सारे दुष्प्रभाव डालता है। उपरोक्त निर्देशों का पालन एवं पदार्थों का सेवन निश्चिंत एवं सुखी जीवन जीने में सहायक सिद्ध होगा। हाँ, किसी भी चीज की अति न हो इसका ध्यान रखें तथा पर्याप्त मार्गदर्शन व सलाह के साथ इन चीजों का सेवन करें।


और भी पढ़ें :