घर में फिश एक्वेरियम रखने के फायदे और नुकसान जानकर दंग रह जाएंगे

fish, aquarium
Last Updated: शुक्रवार, 11 फ़रवरी 2022 (11:11 IST)
हमें फॉलो करें
घर में या रखने के फायदे भी हैं और नुकसान भी। फिश एक्वेरियम रखने के पहले किसी को अपनी कुंडली दिखाएं और किसी वास्तुशास्त्री से सलाह लेकर ही फिश एक्वेरियम को घर में रखें। फिश एक्वेरियम को घर में रखने के फायदे और नुकसान जानकार आप दंग रह जाएंगे।


फिश एक्वेरियम रखने के फायदे :

1. इसे घर में उचित दिशा में रखने और उचित देखभाल करने से घर पर आने वाले संभावित संकट से बचा जा सकता है। कहते हैं कि वो संकट फिश एक्वेरियम में रखी मछलियां झेल लेती हैं। मछलियां किसी भी आपदा को अपने ऊपर ले लेती है। जब भी कोई मछली मर जाएं तो वैसी ही समान रंग की मछली लाकर एक्वेरियम टैंक में डाल दें। में माना जाता है कि जब कोई मछली मरती है तो वह अपके परिवार पर आने वाली संकट को अपने उपर ले लेती है, ऐसे में आपको दुःखी होने की जरूरत नहीं है।

2. फिश एक्वेरियम रखने से घर में धन, संपत्ति और समृद्धि बढ़ती है। फेंगशुई शास्त्र के अनुसार मछली धन को आकर्षित करती है।

3. इसे घर में रखने से घर में खुशियों का वातावरण निर्मित होता है।

4. मछलियों को अठखेलियां करते हुए देखने से मानसिक शांति मिलती है।

5. फिश एक्वेरियम में तैरती सुंदर रंग-बिरंगी मछलियां हमारे घर को खूबसूरत बनाती है।

6. मछलियों को दाना डालने से शनि संबंधी दोष दूर हो जाते हैं और आर्थिक संकट दूर होता है।
मछली की मूर्ति : कई लोग घर में एक्वेरियम में मछली पालते हैं परंतु उससे ज्यादा बेहतर होता है मछली की पीतल या चांदी की मूर्ति बनवाकर घर में रखना। वास्तु और फेंगशुई दोनों के अनुसार यह मूर्ति घर में खुशहाली और शांति को कायम करके उन्नती के रास्ते खोलती है। मछली अच्छे स्वास्थ्य, सुख-समृद्धि, धन और शक्ति का प्रतीक है। इस मूर्ति को आप अपने घर की उत्तर-पूर्व या पूर्व दिशा में ही रख सकते हैं। चांदी की मछली रखने के कई फायदे होते हैं।

फेंगशुई के अनुसार गोल्डन फिश रखना शुभ होता है। गोल्डन फिश दो तरह से रखी जा सकती है। एक तो उसकी मूर्ति और दूसरा एक्वारियम में जिंदा गोल्डन फिश। दोनों ही से सकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होता है और घर से नकारात्मक ऊर्जा का निष्‍काषन हो जाता है। गोल्डन फिश की सुंदर मूर्ति रखने से सौभाग्य में वृद्धि होती है। यह बाजार में जोड़ो से मिलती है। घर के सौभाग्य को बढ़ाने में सुनहरी मछली बहुत ही सहायक होती है। गोल्डन फिश मूर्ति घर में रखने से संपन्नता आती है तथा धन में वृद्धि होती है। इसे रुका हुए धन की प्राप्ति होती है। घर के ड्राइंगरूम की पूर्व या उत्तर दिशा में सुनहरी मछली को रख सकते हैं। इससे सुख, शांति और समृद्धि बनी रहती है। घर में इस फिश के रहने से उन्नती के सभी द्वार खुल जाते हैं और कार्यों में किसी भी प्रकार की रुकावट नहीं आती है।

फिश एक्वेरियम रखने के नुकसान :

1. इसे के अनुरूप तैयार किया जाता है। एयरमशीन, फिल्टर व हीटर के लोकेशन्स भी एक्वेरियम में दिशा के अनुसार लगाए जाते हैं। यदि ऐसा नहीं किया जाता है तो नुकसान होता है।

2. यदि आप नॉनवेज खाते हैं और खासतौर से मछलियां खाते हैं, तो आपको उन्हें नहीं पालना चाहिए। क्योंकि आपकी भावनाओं को मछलियां आसानी से पकड़कर समझ सकती हैं जिससे आपको नुकसान झेलना पड़ सकता है।

3. फिश एक्वेरियम में मछलियों की वास्तु अनुसार संख्‍या और रंग तय नहीं है तो यह नुकसानदायक सिद्ध होगी।

4. एक्वेरियम इतना बड़ा हो कि उसमें मौजूद सभी मछलियां आसानी से तैर सके अन्या यदि मछलियां परेशानी में हैं तो आप भी अपनी जिंदगी में परेशान रहेंगे।

5. फाइटर फिश को हमेशा दूसरी मछलियों से अलग रखें। इसके अलावा जो मछलियां जोड़े में रखी जाती है उन्हें जोड़े में ही रखें अन्यथा ये नुकसानदायक सिद्ध होगा।

6. फिश एक्वेरियम की उचित देखभाल नहीं कर सकते हैं तो नुकासन होगा। एक्वेरियम का तापमान नियंत्रित रखें। तापमान को चेक करने के लिए आप एक्वेरियम में ही थर्मामीटर लगा सकते हैं। एक्वेरियम में पानी वाला फव्वारा लगाएं। इससे मछलियों को अधिक ऑक्सीजन मिलती है। आप एक्वेरियम में कुछ जलीय पौधे जैसे हाइड्रिला, वैलेसनेरिया को भी लगा सकते हैं। ये पौधे एक्वेरियम की सुंदरता बढ़ाने के साथ-साथ पानी में रहते हुए ऑक्सीजन भी छोड़ते हैं।

7. किचन या बेडरूम में फिश एक्वेरियम रखने से नकारात्मक ऊर्जा फैलती है। किचन में रखने से आर्धिक नुकसान और बेडरूम में रखने से पति पत्नी के बीच तनाव बढ़ता है।

8. कहते हैं कि फिश एक्वेरियम में मछलियों को रखना एक प्रकार की कैद है। यदि फिश एक्वेरियम में मछलियां खुश नहीं हैं तो आपके लिए मुसीबत खड़ी हो सकती है।

9. घर में 2 एक्वेरियम एक साथ नहीं रखने चाहिए अन्यता दुखदायक परिस्थितियां उत्पन्न हो जाएगी।
10. यदि आपके एक्वारियम में मछलियां बार बार मर जाती है तो आप फिश एक्वेरियम को अपने घर से हटा दें या किसी वास्तुशास्त्री से इसका कारण पूछें।



और भी पढ़ें :