बसंत पंचमी पर मां सरस्वती को अर्पित करें 11 सफेद और पीली शुभ सामग्री, बदल जाएगी जिंदगी

Goddess Saraswati
Last Updated: शुक्रवार, 4 फ़रवरी 2022 (14:13 IST)
हमें फॉलो करें
Basant Panchami 2022: 5 फरवरी को बुधादित्य और केदार योग में वसंत पंचमी मनाई जाएगी। हिन्दू कैलेंडर के अनुसार माघ माह की शुक्ल पंचमी को बसंत पंचमी के रूप में माता सरस्वती (Maa Saraswati) का जन्मोत्सव और मदनोत्सव बनाया जाता है। इस दिन माता सरस्वती की पूजा होती है। आओ जानते हैं कि माता सरस्वती को कौनसी सी 11 सफेद और पीली शुभ सामग्री अर्पित करना चाहिए।


1. पीले और सफेद फूल : बसंत पंचमी पर माता सरस्वती को पीले या सफेद फूल अर्पित करें।

2. पीले और सफेद वस्त्र : बसंत पंचमी पर माता सरस्वती को पीले या सफेद वस्त्र अर्पित करें। इस पूजा करते समय पीले वस्त्र पहनान चाहिए।

3. पीले या सफेद पेड़े या मिठाई : बसंत पंचमी पर माता सरस्वती को पीले या सफेद पेठे अर्पित करें।

4. बूंदी : बसंत पंचमी पर माता सरस्वती को बूंदी अर्पित करें।

5. केला : बसंत पंचमी पर माता सरस्वती को केला अर्पित करें।

6. पीले चावल : बसंत पंचमी पर माता सरस्वती को केसर मिश्रित पीले चावल अर्पित करने से वह प्रसन्न होती हैं।

7. श्वेत चंदन : बसंत पंचमी पर माता सरस्वती की श्‍वेत चंदन से पूजा की जाती है।
8. मधु : मधु अर्थात शहद अर्पित करें।

9. गन्ना और गन्ने का रस : बसंत पंचमी पर माता सरस्वती को गन्ना और गन्ने का रस भी अर्पित करें।

10. दूध, दही और मक्खन : बसंत पंचमी पर माता सरस्वती को दूध, दही और मक्खन अर्पित करें।

11. अन्य सामग्री : धान का लावा, सफेद तिल के लड्डू, पका हुआ गुड़, श्वेत अलंकार, खोवे का श्वेत मिष्टान, अदरक, मूली, शर्करा, सफेद धान के अक्षत, तण्डुल, शुक्ल मोदक, धृत, सैन्धवयुक्त हविष्यान्न, यवचूर्ण या गोधूमचूर्णका धृतसंयुक्त पिष्टक, पके हुए केले की फली का पिष्टक, नारियल, नारियल का जल, श्रीफल, बदरीफल, ऋतुकालोभ्दव पुष्प फल आदि। पूजा में पेन, कॉपी, किताब, वाद्य यंत्र आदि को शामिल करना चाहिए।




और भी पढ़ें :