खौफनाक, बच्चों के विवाद में रिटायर्ड फौजी की पत्नी को जिंदा जलाया

Crime
हिमा अग्रवाल| पुनः संशोधित बुधवार, 14 अक्टूबर 2020 (12:11 IST)
आगरा से एक रोंगटे खड़ी कर देने वाली खबर सामने आई है। 2 परिवारों के आपसी विवाद को सुलझाने के लिए एक पंचायत हुई। आरोप है कि पंचायत में मामला नहींं सुलझा तो पूर्व फौजी की पत्नी को केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया गया, उपचार के दौरान महिला की मौत हो गई है।
मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस ने पीड़ित पक्ष की तहरीर पर मुकदमा दर्ज करके अपनी जांच शुरू कर दी और 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

मामला आगरा के ताजगंज थाना क्षेत्र के पुष्पांजलि सिटी ईको कॉलोनी का है। जहां कुछ दिन पहले पूर्व फौजी अनिल के बेटे और भरत खरे के नाबालिग बेटों में खेलते हुए कुछ विवाद हो गया था। बच्चों का यह विवाद दोनों परिवारों तक पहुंचा और जातिगत रूप ले गया। खरे ने थाने में एससी/एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज करा दिया था।

गढमुक्तेश्वर निवासी रिटायर्ड फौजी अनिल राजावत का परिवार वर्ष 2014 से पुष्पांजलि ईको सिटी में रहता है। घर में उनकी पत्नी संगीता, जुड़वां आठ वर्षीय बेटे पीयूष और आयुष हैं।

पीड़ित अनिल के मुताबिक बीते शुक्रवार को उनकी पत्नी संगीता दूध लेने गई थीं। उनके बेटे घर के बाहर खेल रहे थे। तभी भरत खरे का 10 वर्षीय बेटा बिट्टू वहां आ गया। साथ खेलने को लेकर उससे झगड़ा हो गया। भरत के बेटे के सिर में चोट लग गई।
चोट लगने पर गुस्साए भरत खरे ने मुकदमा दर्ज करा दिया। विवाद सुलझाने के लिए भरत खरे के घर में उसके रिश्तेदार और क्षेत्रवासियों की तरफ से पंचायत हुई। सूत्रों के मुताबिक पंचायत में खरे परिवार ने 10 लाख रुपए लेकर समझौते की बात रखी।

अनिल ने इतना पैसा देने में अपनी असमर्थता जताई और हाथ जोड़ दिए।


आरोप है कि बीते रविवार को रिटायर्ड फौजी की पत्नी संगीता घर के बाहर खड़ी थी, तभी उसको कुछ अज्ञात लोगों ने केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया गया। पीड़िता की चींख सुनकर उसके दोनों बच्चे, पति और आसपास के लोग आ गई। झुलसी हुई हालत में उपचार के लिए अस्पताल लाया गया, जहां उसकी गंभीर हालत देखते हुए दिल्ली रेफर कर दिया गया। दिल्ली में उसकी मौत हो गई है।
घटना के क्षेत्रवासियों में रोष है और वह आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

पुष्पांजलि ईको सिटी में हुई दिल दहला देने वाली घटना से हर शखस सहमा हुआ है। पीड़िता को जलाने का आरोप भरत खरे और उनके रिश्तेदारों पर लगा है। घटना के बाद से खरे अपने परिवार के साथ सोसायटी छोड़कर फरार है, पुलिस को उनकी तलाश है। पुलिस मामले की गंभीरता को समझते हुए फूंक-फूंक कर कदम रख रही है।
आगरा एसपी रोहन प्रमोद बोत्रे का कहना है की परिवार के बयान दर्ज कर लिये है, साथ ही पुष्पांजलि सोसायटी के लोगों से बातचीत करते घटना की गहनता से जांच की जा रही है। जो भी इस कृत्य को अंजाम देने में का दोषी पाया जायेगा, उसके खिलाफ सख्त एक्शन होगा। फिलहाल दो लोगों को जेल भेजा जा रहा है।



और भी पढ़ें :