जो बिडेन का अमेरिका से वादा- तोड़ने के बजाए जोड़ने वाला राष्‍ट्रपति बनूंगा

Last Updated: रविवार, 8 नवंबर 2020 (08:40 IST)
वॉशिंगटन। में ऐतिहासिक वोट हासिल कर अमेरिका के नए राष्‍ट्रपति चुने गए ने अमेरिका जनता से वादा किया कि वे एक ऐसे राष्ट्रपति बनेंगे जो तोड़ने के बजाए जोड़ने का काम करेगा।
ALSO READ:
जो बिडेन और कमला हैरिस को PM मोदी ने दी बधाई, जताई भारत-US संबंध मजबूत होने की उम्मीद
उन्होंने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में कहा कि इस देश की जनता ने हमें एक स्पष्ट जीत दी है। हम राष्ट्र के इतिहास में राष्ट्रपति टिकट पर अब तक के सबसे अधिक वोटों से जीते हैं, 74 मिलियन। मैं ऐसा राष्ट्रपति बनने की प्रतिज्ञा लेता हूं जो तोड़ने के बजाय जोड़ने का काम करेगा।
बिडेन ने कहा, 'मैं ऐसा राष्‍ट्रपति बनूंगा जो लाल और नीले रंग में रंगे अमेरिकी प्रांतों को नहीं देखता, बल्कि सिर्फ अमेरिका को देखता है।

उन्‍होंने कहा,
'आप में से जिन भी लोगों ने ट्रंप को वोट दिया, उनकी निराशा मैं समझ सकता हूं। आइये हम एक-दूसरे को एक मौका दें। यही वो समय है कि हम तीखी भाषा या वाकपटुता को अलग रखें। अपने बीच की तल्खियां कम करें। हम एक-दूसरे को फिर से देखें, फिर से सुनें।

अब समय आ गया है कि माहौल को हल्का करें। एक-दूसरे की बात को फिर से सुना जाए। हमें विकास करने के लिए अपने विरोधियों के साथ दुश्मनों जैसा व्यवहार करना बंद करना होगा। वे हमारे दुश्मन नहीं हैं, वे अमेरिकी हैं।
क्या बोलीं कमला हैरिस : अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति बनने जा रहीं कमला हैरिस ने अपने भाषण में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में बढ़-चढ़ कर मतदान करने वाले अमेरिकी लोगों का धन्यवाद किया और उन्होंने सदियों से चले आ रहे महिलाओं के संघर्षों को भी याद किया।

उन्होंने कहा कि आपने रिकार्ड संख्या में वोट डालकर अमेरिका के लोकतंत्र एक नया अध्याय लिखा है। आपने उम्मीद, मर्यादा, विज्ञान और सच को चुना है। आपने जो बिडेन को अगला राष्ट्रपति चुना है।

सुश्री हैरिस ने महिलाओं को याद करते हुए कहा, ‘महिलाएं हमारे लोकतंत्र की रीढ़ की हड्डी हैं। वे औरतें जिन्होंने 100 वर्ष पहले 19वें संशोधन के लिए लड़ाई लड़ने के अलावा 55 वर्ष पहले मताधिकार के लिए संघर्ष किया है।‘

उन्होंने कहा कि इस पद पर पहुंचने वाली वह पहली महिला हो सकती हूं लेकिन इस कड़ी में वह आख़िरी नहीं हैं।



और भी पढ़ें :