बड़े-बड़े धुरंधरों को धूल चटाने वाले बॉक्सर ने साधारण से यूट्यूबर के आगे टेके घुटने

पुनः संशोधित बुधवार, 9 जून 2021 (18:21 IST)
अगल आप चाह लें, तो कुछ भी कर सकते हैं। ये लाइन आपने सुनी, तो कई बार होगी,लेकिन इसका एक बड़ा उदाहरण रविवार को खेले गए एक बॉक्सिंग मैच ने पेश किया। जहां, एक ऐसे ने में 18 साल के साधारण से दिखने वाले पतली-दुबली कदकाठी के के सामने घुटने टेक दिए, जिसने आज तक एक भी मैच में हार का मुंह नहीं देखा था। कहानी फिल्मी लगती जरुर है, लेकिन सच्ची है, जिसे पढ़कर वाकई आप भी सोचने पर मजबूर हो जाएंगे, कि क्या जज्बे में इतनी ताकत होती है।
चैरिटी के लिए खेला गया था मुकाबला

जाने माने बॉक्सर का नाम कौन नहीं जानता। मेवेदर ने अभी तक कुल 50 फाइट लड़ी है और एक बार उनको हार का मुहं नहीं देखने पड़ा। मगर रविवार को जब उनका सामना 18 वर्षीय यूट्यूबर लोगान पॉल से हुआ तो उनको अपने करियर में पहली बार हार का सामना करना पड़ा।
लोगान पॉल ने मेवेदर जैसे बॉक्सर के खिलाफ फाइट लड़ने के लिए अपनी जिंदगी को दांव पर लगाने का रिस्क उठाया। यह फाइट उन्होंने इसलिए की ताकि जरूरतमंद लोगों की मदद कर सके। दरअसल, दोनों के बीच एक चैरिटी मैच खेला गया और इस फाइट से हुई सारी कमाई जरुरतमंद लोगों का भला करने में लगाई गई।

लीगल फाइट होने के बाद भी बिना जज के हुई फाइट

यूट्यूबर फाइट होने के चलते लोगान पॉल को फ्लायड मेवेदर के खिलाफ जीत का मौका नहीं मिल सका। यह फाइट मियामी स्थित हार्ड रॉक स्टेडियम में खेल गई और दोनों के बीच तीन-तीन मिनट के 8 राउंड खेले गए। मेवेदर और पॉल दोनों ने 10 औंस के ग्लव्स पहने हुए थे और इस फाइट में एक भी जज नहीं था। भले ही इस फाइट में कोई जज ना हो लेकिनइसके बाद भी यह फाइट लीगल रही।
लोगान पॉल के कोच मिल्टन लैक्रोइक्स ने पिछले महीने ही ईएसपीएन से कहा था कि, इस लड़ाई में उनके शिष्य के जीतने की पूरी संभावना है। पॉल ने उनकी बात को सही भी साबित
किया।

वही फाइट के बाद मेवेदर ने पॉल के बारे में कहा, ‘’जितना मैंने सोचा था वह उससे कहीं ज्यादा बेहतर है। मैं आज रात उसके प्रदर्शन को देखकर हैरान था। उसका बहुत अच्छा काम रहा। बहुत अच्छे छोटे बच्चे। लोगान पॉल अभी सिर्फ 18 साल के हैं।‘’

मैच के बाद पॉल ने कहा, ‘’मैं नहीं चाहता कि कोई मुझे बताए कि फिर कभी कुछ असंभव है। वास्तविकता यह है कि मैं यहां ऑल टाइम ग्रेट मुक्केबाजों में से एक के खिलाफ खेला।यह साबित करता है कि किसी भी बाधा से पार पाया जा सकता है।‘’

हारकर भी नहीं हारे मेवेदर

जानकारी के लिए बता दें कि फ्लोरिडा स्टेट बॉक्सिंग कमीशन ने दोनों खिलाड़ियों के अनुभव में जमीन आसमान का अंतर होने के कारण फाइट को आधिकारिक तौर पर मंजूरी नहीं दी थी। इसका सीधा-सीधा मतलब यह है कि मेवेदर मैच में हारने के बाद भी उनका फाइट हारने का रिकॉर्ड कायम है।



और भी पढ़ें :