सावन कब से होगा शुरू, जानिए डेट, मुहूर्त और खास बातें

Lord Shiva Worship
 
इस वर्ष सावन मास (Sawan 2022, श्रावण मास 2022) का शुभारंभ 14 जुलाई 2022 से हो रहा है और 12 अगस्त को श्रावण पूर्णिमा के दिन सावन की समाप्ति होगी। इस बार सावन माह का पहला श्रावण सोमवार 18 जुलाई 2022 को पड़ रहा है तथा सावन महीने का आखिरी दिन 12 अगस्त को रहेगा।

हिन्दू धर्मशास्त्रों में सावन माह का विशेष महत्व माना गया है। यह शिवजी को समर्पित महीना है। शिवजी का सबसे प्रिय माह सावन में भगवान भोलेनाथ की विधि-विधान से पूजा की जाती है। हिंदू पंचांग के अनुसार सावन 5वां महीना माना जाता है। वर्ष 2022 में पवित्र सावन मास श्रावण, विशकुंभ और प्रीति योग में शुरू हो रहा है।

आइए यहां जानते हैं सावन मास की तिथियां और खास बातें...
सावन मास 2022-Sawan Maas 2022

1. श्रावण मास का प्रथम दिन, गुरुवार, 14 जुलाई 2022।


2. श्रावण मास का अंतिम दिन, 12 अगस्त 2022, दिन शुक्रवार।

इस बार सावन माह में 4 सोमवार पड़ रहे हैं।

सावन सोमवार डेट्‍स 2022- Sawan Somvar Dates 2022

1. 18 जुलाई, सोमवार- पहला सावन सोमवार व्रत

2. 25 जुलाई, सोमवार- दूसरा सावन सोमवार व्रत

3. 01 अगस्त, सोमवार- तीसरा सावन सावन सोमवार व्रत

4. 08 अगस्त, सोमवार- चौथा सावन सोमवार व्रत


खास बातें-

1. सावन मास के दौरान प्रतिदिन प्रातः सूर्योदय से पहले जागें और शौच आदि से निवृत्त होकर स्नान करें।

2. पूजा स्थल को स्वच्छ कर वेदी स्थापित करें।

3. शिवजी के मंदिर में जाकर भगवान शिवलिंग को दूध चढ़ाएं।

4. फिर पूरी श्रद्धा के साथ महादेव के व्रत का संकल्प लें।

5. दिन में दो बार (सुबह और सायंकाल) भगवान शिव की प्रार्थना करें।

6. पूजा के लिए तिल के तेल का दीया जलाएं और भगवान शिव को पुष्प अर्पण करें।

7. मंत्रोच्चार सहित शिव को सुपारी, पंच अमृत, नारियल एवं बेल की पत्तियां चढ़ाएं।

8. सावन में व्रत के दौरान श्रावण व्रत कथा का पाठ अवश्य करें।

9. पूजा समाप्त होते ही प्रसाद का वितरण करें।

10. संध्याकाल में पूजा समाप्ति के बाद व्रत खोलें और सामान्य भोजन करें।

11. श्रावण के दौरान मंत्र 'ॐ नमः शिवाय' का जाप करें।





और भी पढ़ें :