IRCTC के शेयर की बंपर लिस्टिंग, 320 रुपए का शेयर 644 रुपए पर हुआ सूचीबद्ध

Last Updated: सोमवार, 14 अक्टूबर 2019 (12:46 IST)
मुंबई। रेलवे की कैटरिंग और ऑनलाइन टिकट बुकिंग यूनिट है। मई 2008 में इसे मिनीरत्न कंपनी का दर्जा मिला था। यह ई-कैटरिंग, और के बिजनेस में भी है। वित्त वर्ष 2018-19 में आईआरसीटीसी का मुनाफा 23.5 प्रतिशत बढ़कर 272.5 करोड़ रुपए रहा था।
बाजार में इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (IRCTC) के शेयर की हुई है। 320 रुपए के इशू प्राइस के मुकाबले बीएसई पर 101.25 प्रतिशत प्रीमियम के साथ 644 रुपए पर लिस्टिंग हुआ। शेयर बाजार में किसी सरकारी कंपनी की यह सबसे सफल लिस्टिंग है।
बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद का बाजार पूंजीकरण (एमकैप) 10,736 करोड़ रुपए हो गया। इंट्रा-डे में 709 रुपए तक पहुंच गया। एनएसई पर 95.6% बढ़त के साथ 626 रुपए पर लिस्टिंग हुई।

पिछले 2 वर्षों में शेयर बाजार में यह सबसे शानदार लिस्टिंग है जिसमें कोई शेयर इशू प्राइस के दोगुने पर लिस्ट हुआ है। IRCTC के आईपीओ को जबरदस्त रिस्पॉन्स मिला था। यह 112 गुना सब्सक्राइब हुआ था। इश्यू 30 सितंबर को खुला था और 3 अक्‍टूबर को बंद हुआ था। प्राइस बैंड 315 से 320 रुपए था।
यह पब्लिक इशू वित्त वर्ष 2019-20 के लिए केंद्र सरकार के विनिवेश की योजना का हिस्सा है। आईआरसीटीसी में 100 प्रतिशत हिस्सेदारी रखने वाली सरकार इसकी 12 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचेगी। आईपीओ के बाद कंपनी में सरकार की हिस्सेदारी घटकर 87.7 प्रतिशत हो जाएगी।
क्या है IRCTC : IRCTC रेलवे की कैटरिंग और ऑनलाइन टिकट बुकिंग यूनिट है। मई 2008 में इसे मिनीरत्न कंपनी का दर्जा मिला था। यह ई-कैटरिंग, एग्जीक्यूटिव लाउंज और बजट होटल के बिजनेस में भी है। वित्त वर्ष 2018-19 में आईआरसीटीसी का मुनाफा 23.5 प्रतिशत बढ़कर 272.5 करोड़ रुपए रहा था।


और भी पढ़ें :