पति यदि दिखाए थोड़ी सी समझदारी तो पत्नी भूल जाएगी नाराज होना


पति-पत्नी के बीच घर के दैनिक कार्य को लेकर, नोकझोंक का सामना रोजाना होता हैं। पति का वाट्सअप, फेसबुक आदि पर कई घंटे बिताना, पत्नी का पति को नहाने को कहना, बाजार से सब्जी लाने, बच्चों को स्कूल छोड़ने आदि कई कामों के लिए आवाज लगाना, मानो पत्नी की रोजमर्रा की ड्यूटी बन गई हो।

पति का नहाने के समय टॉवेल, चड्डी, बनियान आदि का पत्नी से रोजाना मांगना और पूछा जाना कि कहां रखी है? ये भी पति की एक आदत सी बन जाती हैं।
बारिश के मौसम में पत्नी द्वारा भजिये तलकर पति से उसका स्वाद पूछना या क्या कमी रह गई यह पूछना?
पति का छुट्टी के दिनों चौके में मंडराना, दिनभर खाने की चीजों को तलाश कर खाते रहना,
पत्नी से व्यर्थ की नोक झोंक करते रहना,
पत्नी का भी पति को खाना खिलाते समय सारी समस्याएं बतलाते रहना,
टीवी सीरियल देखते हुए पति का थोड़ी-थोड़ी देर में चैनल को बदलते रहना,
पति द्वारा बाजार से पत्नी के लिए साड़ी यदि भूल से या फिर जन्मदिन पर लाकर दी हो, तो पत्नी का साड़ी का भाव पूछना और उसे उसके ठगे जाने का अहसास दिलाते हुए साड़ी को वापस करने का आदेश देना,
पति का पत्नी को मायके से जल्दी आने का कहना, मायके वालों द्वारा एक दिन और रुकने का कहने पर नाराज होना,
छुट्टियों में पत्नी द्वारा घूमने के प्लान को टालना,
पत्नी के नाराज होने और दूसरों के घूमने जाने के उदाहरण देते रहना,
पति का दोस्तों के बीच ज्यादा समय बिताना,
पत्नी द्वारा पति के घर आने की राह देखना,
पत्नी द्वारा रात में बनाएं भोजन को नहीं करना क्योंकि दोस्तों के साथ होटलों में ही भोजन कर लिया है।ऐसे में पत्नी का नाराज होना स्वाभाविक है।
फिर पत्नी का बची हुई बासी रोटी को सुबह पोहे बनाकर सबको खिलाना,
पति से छुपाकर पैसों को जमा करना और आवश्यकता पड़ने पर तुरंत पति की मदद करने का फार्मूला अपनाना,
पति की शर्ट पत्नी की पसंद की लेना, पति द्वारा पत्नी के मायके की बढ़ाई और मदद से पत्नी का खुश होना..............
बताए गए ऐसे अनेक किस्से पति-पत्नी के जीवन आए दिन आते रहते हैं। जिंदगी इसी नोकझोक में व्यतीत होती हैं। पति को चाहिए कि पहले घर के कार्यों की पूर्ति करें एवं आलस्य छोड़ समय को महत्व दें। पत्नी को घर पर बच्चों की आवश्यकता, उन्हें संभालना के अलावा भी कार्य करना होते हैं। जिससे उन्हें थकान होती ही है। ऐसे में पति द्वारा आज ये बनाना था के उपदेश देने से भी पत्नी का नाराज होना स्वाभाविक है। पतियों को जरूरत है कि वे ठंडे दिमाग से रहें व किसी भी बात को ज्यादा तूल न पकड़ने दें। बहस बाजी ना करें, चेहरे पर मुस्कान और खुश रखने से भी तनाव कम किया जा सकते हैं। मोबाइल पर वाट्सअप, फेसबुक आदि की लत न लगाकर घर के आवश्यक कार्यों को प्राथमिकता दें। इससे नोकझोक से उपजी नाराजगी कोसो दूर रहेगी।



और भी पढ़ें :