Relationship : रिश्तों को सुधारने के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स




रिश्ते आसानी से बना तो लेते हैं लेकिन उन्हें निभाना उतना ही मुश्किल होता है। सच्चे रिश्ते जीवन में सुकून और खुशियां लेकर आते हैं। वहीं रिश्तों में आई दरार और मनमुटाव उन खुशियों को नाराजगी और दूरियों में बदल देते हैं। एक मजबूत रिश्ता आपके व्यवहार व एक-दूसरे को समझने पर निर्भर करता है। ऐसा इंसान जो आपके साथ सच्चे मन से और पूरी ईमानदारी व प्यार के साथ जिंदगी बिता सके, ऐसा बहुत मुश्किल से होता है।
माना कि हर रिश्ते में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। कभी किसी बात को लेकर रिश्ते में बहुत कड़वाहट भी आ जाती है। लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि आप उन रिश्तों को वहीं खत्म कर दो। किसी भी मजबूत रिश्ते की पहचान है कि हर मुश्किल में वो एक-दूसरे का साथ न छोड़े। यदि किसी बात को लेकर रिश्तों में दूरियां आ रही हैं तो उन्हें सुधारने का प्रयास करना जरूरी होता है जिससे कि रिश्ते को बचाया जा सके।
तो आइए हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताते हैं जिससे कि रिश्तों में सुधार लाया जा सकता है।

1. एक-दूसरे को ज्यादा समय दें

अपने पार्टनर के साथ ज्यादा से ज्यादा वक्त बिताएं। ऐसा करने से आप दोनों के बीच आई दूरी कम होगी और आप एक-दूसरे को अच्छे से समझ भी पाएंगे। इससे आप दोनों के बीच बॉडिंग भी मजबूत होगी।

2. रखें एक-दूसरे की पसंद का ख्याल
कुछ ऐसा करें, जो आप दोनों को ही पसंद हो। आप नई-नई चीजें ट्राई कर सकते हैं, जैसे साथ में कार्ड्स खेलें, बाहर घूमने जाएं, डिनर पर जाएं। बस आप इतना ख्याल रखें कि आप दोनों को एक-दूसरे के लिए वक्त निकालना है और साथ में एक अच्छा समय बिताना है।

3. पर्सनल स्पेस देना है जरूरी

कभी-कभी कुछ परिस्थितियां ऐसी हो जाती हैं जिनमें केवल आप खुद को समझ सकते हैं। उस वक्त ऐसा लगता है कि हमारे आस-पास कोई न हो, हम अकेले रहें। ऐसे में आप इस बात को समझें कि आपको अपने पार्टनर को भी उनका पर्सनल स्पेस देना चाहिए ताकि वे खुद को भी समय दे पाएं।
4. दोस्तों के साथ समय बिताने दें

हम सभी की जिंदगी में दोस्त होते हैं और होना भी चाहिए। लेकिन शादी के बाद या किसी में आने के बाद हम अपने पार्टनर की खातिर अपने दोस्तों से दूरी बना लेते हैं, जो कि गलत है। आपके दोस्तों की आपकी जिंदगी में अपनी अलग जगह है, इसलिए एक पार्टनर होने के नाते आपको यह बात समझनी चाहिए कि आप अपने पार्टनर पर जोर न दें कि वे अपने दोस्तों से कम बात करें या कहीं घूमने न जाएं। उन्हें अपनी जिंदगी इंजॉय करने दें।
5. एक-दूसरे की बातें सुनें

किसी भी मुद्दे पर बहस करने की बजाय एक-दूसरे की बातों को ध्यान से सुनें और समझें। बहस करने से किसी भी बात का हल तो निकलना नहीं है और आप बेवजह की लड़ाई करके बात को और बिगाड़ देंगे। इसलिए एक-दूसरे की बातों को समझकर अपना पक्ष रखें।





और भी पढ़ें :