योगी आदित्यनाथ ने हनुमानजी को बताया दलित, ब्राह्मणों ने भेजा नोटिस

जयपुर| पुनः संशोधित बुधवार, 28 नवंबर 2018 (14:54 IST)
जयपुर। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री को हनुमानजी को एवं वंचित बताने पर सर्व महासभा ने नोटिस भेजकर चेतावनी दी है कि इस मामले में माफी नहीं मांगी तो कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पं. सुरेश मिश्रा ने योगी आदित्यनाथ को कानूनी नोटिस भेजकर कहा कि हनुमानजी महाराज को वंचित और लोकदेवता चुनावी सभा में बताया गया है, जबकि हनुमानजी पूरे विश्व में पूजे जाते हैं न कि केवल किसी विशेष क्षेत्र में। हनुमानजी को लोक देवता एवं वंचित बताना उनका अपमान है।

उन्होंने कहा कि बजरंगबली का अपमान होने से करोड़ों देशवासियों की भावना आहत हुई है। योगी को इसके लिए तुरंत माफी मांगनी चाहिए। तीन दिन में मांफी नहीं मांगने पर पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि योगी आदित्यनाथ मंगलवार को अलवर जिले के मालाखेड़ा में एक चुनावी सभा में कहा था कि बजरंगबली ऐसे लोकदेवता है जो स्वयं वनवासी हैं, दलित एवं वंचित हैं। (वार्ता)

 

और भी पढ़ें :