मुंबई में बिजली आपूर्ति ठप होने से लोकल ट्रेन सेवाएं, यात्री प्रभावित

Electricity
Last Updated: सोमवार, 12 अक्टूबर 2020 (17:05 IST)

मुंबई। में सोमवार को बिजली आपूर्ति ठप होने से महानगर की जीवन रेखा मानी जाने वाली लोकल ट्रेनों का संचालन भी ढाई घंटे रुक गया जिससे यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। यह जानकारी रेलवे के अधिकारियों ने दी।
ट्रेनों में पंखे और बत्ती भी बंद हो जाने के कारण कई यात्रियों ने ट्रेनों से उतरकर पटरी के किनारे चलते हुए अपने गंतव्य तक पहुंचने का फैसला किया। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार हाल के कुछ समय में यह दुर्लभ घटना थी, जब मध्य रेलवे (सीआर) और पश्चिम रेलवे (डब्ल्यूआर) दोनों ही मार्गों पर उपनगरीय ट्रेन सेवाएं पॉवर ग्रिड फेल होने से ठप हो गईं।

पिछले महीने मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे की ट्रेन सेवाएं भारी वर्षा के बाद पटरियों पर पानी भरने के चलते रुक गई थीं। कोविड-19 महामारी के चलते इसे केवल जरूरी सेवाओं में लगे कर्मचारियों के लिए संचालित किया जा रहा था। अधिकारियों ने बताया कि सोमवार सुबह देश की वित्तीय राजधानी मुंबई में पॉवर ग्रिड फेल होने से पूर्वाह्न 10 बजकर 5 मिनट के बाद से उपनगरीय ट्रेन सेवाएं और लंबी दूरी की ट्रेनें पटरियों पर रुक गईं।
सीआर ने एक विज्ञप्ति में कहा कि मध्य रेलवे की सेवाएं सबसे पहले हार्बर लाइन पर पूर्वाह्न 10.55 बजे फिर से शुरू हुईं, जो महानगर मुंबई को पड़ोसी नवी मुंबई से जोड़ती हैं। विज्ञप्ति में कहा गया है कि इसकी मुख्य लाइन- छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस से कसारा (पड़ोसी ठाणे में) और खोपोली (रायगढ़ में) दोपहर 12.26 बजे फिर से शुरू हुई।

चर्चगेट और दहानू (पालघर) स्टेशनों के बीच लोकल ट्रेनों का संचालन करने वाले पश्चिम रेलवे के अनुसार इसकी सेवाएं दोपहर 12.20 बजे बहाल हुईं। मुंबई। मुंबई में सोमवार को बिजली आपूर्ति ठप होने से महानगर की जीवन रेखा मानी जाने वाली लोकल ट्रेनों का संचालन भी ढाई घंटे रुक गया जिससे यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। यह जानकारी रेलवे के अधिकारियों ने दी।
ट्रेनों में पंखे और बत्ती भी बंद हो जाने के कारण कई यात्रियों ने ट्रेनों से उतरकर पटरी के किनारे चलते हुए अपने गंतव्य तक पहुंचने का फैसला किया। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार हाल के कुछ समय में यह दुर्लभ घटना थी, जब मध्य रेलवे (सीआर) और पश्चिम रेलवे (डब्ल्यूआर) दोनों ही मार्गों पर उपनगरीय ट्रेन सेवाएं पॉवर ग्रिड फेल होने से ठप हो गईं।

पिछले महीने मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे की ट्रेन सेवाएं भारी वर्षा के बाद पटरियों पर पानी भरने के चलते रुक गई थीं। कोविड-19 महामारी के चलते इसे केवल जरूरी सेवाओं में लगे कर्मचारियों के लिए संचालित किया जा रहा था।
अधिकारियों ने बताया कि सोमवार सुबह देश की वित्तीय राजधानी मुंबई में पॉवर ग्रिड फेल होने से पूर्वाह्न 10 बजकर 5 मिनट के बाद से उपनगरीय ट्रेन सेवाएं और लंबी दूरी की ट्रेनें पटरियों पर रुक गईं। सीआर ने एक विज्ञप्ति में कहा कि मध्य रेलवे की सेवाएं सबसे पहले हार्बर लाइन पर पूर्वाह्न 10.55 बजे फिर से शुरू हुईं, जो महानगर मुंबई को पड़ोसी नवी मुंबई से जोड़ती हैं।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि इसकी मुख्य लाइन- छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस से कसारा (पड़ोसी ठाणे में) और खोपोली (रायगढ़ में) दोपहर 12.26 बजे फिर से शुरू हुई। चर्चगेट और दहानू (पालघर) स्टेशनों के बीच लोकल ट्रेनों का संचालन करने वाले पश्चिम रेलवे के अनुसार इसकी सेवाएं दोपहर 12.20 बजे बहाल हुईं।
mumbai train" width="740" />
डब्ल्यूआर के प्रवक्ता ने कहा कि पश्चिम रेलवे के मुंबई उपनगरीय खंड पर बिजली की आपूर्ति बहाल होने के बाद दोपहर 12.20 बजे सभी ओवरहेड उपकरण और उपनगरीय ट्रेन सेवाएं बहाल कर दी गईं। वर्तमान में मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे प्रतिदिन 953 उपनगरीय ट्रेन सेवाओं का सामूहिक रूप से संचालन कर रहे हैं।
बिजली आपूर्ति बाधित होने के कारण बाहर के स्थानों के लिए कई विशेष ट्रेन सेवाएं भी प्रभावित हुईं। इसके कारण रेलवे अधिकारियों को उनके रवाना होने का समय फिर से निर्धारित करना पड़ा। मध्य रेलवे ने अपनी विज्ञप्ति में कहा कि उसने लोकमान्य तिलक टर्मिनस-गोरखपुर (ट्रेन नंबर 01055), एलटीटी-गोरखपुर (ट्रेन संख्या 02542), एलटीटी-तिरुवनंतपुरम, एलटीटी-दरभंगा और एलटीटी-वाराणसी विशेष ट्रेनों का समय फिर से निर्धारित किया है।
डब्ल्यूआर ने कहा कि इसकी बांद्रा टर्मिनस-अमृतसर क्लोन विशेष ट्रेन, बांद्रा टर्मिनस-अमृतसर पश्चिम एक्सप्रेस, अहमदाबाद-मुंबई सेंट्रल कर्णावती एक्सप्रेस, सयाजी नगरी एक्सप्रेस और बांद्रा टर्मिनस-जोधपुर सूर्यनगरी एक्सप्रेस बिजली बाधित होने के कारण प्रभावित हुई। (भाषा)



और भी पढ़ें :