BJP ने नोटबंदी के बाद इंटरनेट बंदी का बनाया इतिहास : अखिलेश यादव

अवनीश कुमार| Last Updated: रविवार, 29 दिसंबर 2019 (18:07 IST)
लखनऊ। समाजवादी छात्रसभा की बैठक में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने मजाकिया अंदाज में भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी ने नोटबंदी का इतिहास तो बनाया ही है और दुनिया में बंद करने का भी इतिहास बना लिया है और तो और आप देखिएगा कि अर्थव्यवस्था की गिरावट का इतिहास तो बनेगा ही बनेगा, लेकिन साथ ही साथ भाजपा के गिरावट का भी रिकॉर्ड बनाएगी।
अखिलेश ने कहा कि लोकतंत्र को बचाओ। मैं ऐसा नहीं कह रहा हूं कि आप लोगो नहीं बचा रहे हैं लेकिन थोड़ा डर-डरकर बचा रहे हैं। बिजली का बिल उत्तर प्रदेश में इतना ज्यादा है कि किसान नहीं दे पा रहा है आज जितना बोझ गरीब और किसानों के ऊपर बिजली के बिल का आ गया है इतना बोझ कभी भी उत्तरप्रदेश के गरीब और किसानों पर नहीं पड़ा है जबकि अभी तक एक यूनिट उत्पादन बढ़ा नहीं पाए हैं, लेकिन बिजली का बिल बढ़ा दिया है।
अखिलेश यादव ने कहा कि आज बेहद खुशी का दिन है कि यहां पर भारी संख्या में युवा साथी मौजूद हैं। उनके छात्रसंघ का चुनाव जीतकर आने वाले युवा साथी भी मौजूद है। सबको हार्दिक बधाई, लेकिन भाजपा ने युवाओं के साथ नौजवानों के साथ बर्बरता की है, लेकिन नौजवानों को पीटने वाले और एसओ को पीटने वालों पर कार्रवाई नहीं हुई। आप बताइए वाराणसी में नौजवान साथियों को पीटा। एसओ को भी पीटा पर न्याय नहीं मिला।

समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता मुकदमों से नहीं डरते। आज उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री जब मुकदमे वापस ले रहे हैं तो आपको भी घबराने की आवश्यकता नहीं है। सरकार आते ही आपके मुकदमे वापस होंगे। अखिलेश यादव ने कहा कि आप सभी नौजवान साथी वाराणसी नहीं आज क्योटो से आए हैं। बीजेपी ध्यान भटकाने के लिए सब काम कर रही है, लेकिन आप पासपोर्ट बनवाकर रखिए आपको वास्तविक क्योटो हम दिखाएंगे।
नहीं भरूंगा एनपीआर फार्म : उन्होंने सभाकक्ष में बैठे सपा के छात्र नेताओं से मुखातिब होते हुए कहा कि सवाल यह है कि हमें एनपीआर चाहिए या रोजगार? अगर जरूरत पड़ी तो मैं पहला व्यक्ति होउंगा जो कोई फार्म नहीं भरेगा। आप साथ देंगे कि नहीं। नहीं भरते हैं तो हम और आप सब निकाल दिए जाएंगे। हम तो नहीं भरेंगे, बताओ आप भरोगे?'
सपा अध्यक्ष ने कहा कि जो पुलिसकर्मी नये नागरिकता कानून और एनआरसी का विरोध करने वाले लोगों पर लाठियां चला रहे हैं, उन्हें बताया जाना चाहिए कि उनसे भी उनके माता-पिता का प्रमाण-पत्र मांगा जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी भारतीय लोग ऐसे लोगों से भारत बचाएं जो संविधान की धज्जियां उड़ा रहे हैं।
प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सब इसलिए किया जा रहा है ताकि जनता अपनी बुनियादी समस्याओं और देश की बदहाल अर्थव्यवस्था के बारे में सवाल न पूछे।

उन्होंने कहा कि सरकार ने नोटबंदी के वक्त कहा था कि भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा, मगर वह बात झूठ निकली। नोटबंदी के कारण अनेक बैंक डूब गये। जीएसटी से कारोबारी बर्बाद हो गए। हालत यह है कि देश की अर्थव्यवस्था आईसीयू से निकलकर आईसीसीयू में पहुंच गई है। अखिलेश ने कहा कि सपा सरकार ने युवाओं को लैपटॉप दिया और भाजपा शौचालय की तरफ ले जा रही है। इस फर्क को समझिए।


और भी पढ़ें :