लिज ट्रस : प्रोफाइल

की तीसरी महिला प्रधानमंत्री हैं। दो महीने चले चुनावी कैम्पेन में उन्होंने भारतवंशी ऋषि सुनक को हराया। ट्रस को 81,326 वोट मिले, जबकि सुनक को 60,399 वोट मिले। मैरी एलिजाबेथ ट्रस या लिज ट्रस का जन्म 1975 में ऑक्सफोर्ड में हुआ था। खुद को वामपंथ बताने वाली लिज ट्रस के पिता गणित के प्रोफेसर थे और अपनी मां एक नर्स थीं। स्कूली पढ़ाई के बाद लिज ट्रस ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में फिलॉसोफी, राजनीति और इकोनॉमी पढ़ने के लिए एडमिशन लिया।

दक्षिणपंथी लिज बोरिस जॉनसन की जगह लेंगी। लिज को ब्रिटेन की सियासत में फायरब्रांड नेता माना चाता है। दो महीने चले चुनावी कैम्पेन में वे काफी आक्रामक रही। लिज तीसरी महिला प्रधानमंत्री हैं। उनके पहले मार्गरेट थैचर और थेरेसा मे इस पर रह चुकी हैं। लिज मार्गरेट थैचर को अपना आदर्श मानती हैं।

कंजर्वेटिव पार्टी की नेता बनीं ट्रस तब लिबरल डेमोक्रेट्स के लिए छात्र राजनीति में सक्रिय रहीं और पार्टी की कार्ड होल्डर मेंबर थीं। ऑक्सफोर्ड में रहते ही ट्रस ने लिबरल डेमोक्रेट्स का साथ छोड़ा और 180 डिग्री पलटी मारते हुए कंजर्वेटिव पार्टी में स्विच कर गईं।
ग्रेजुएशन पूरी होने के बाद उन्होंने एक कंपनी में अकाउंटेंट के रूप में काम किया और साल 2000 में उसी कंपनी के अकाउंटेंट ह्यूग ओ'लेरी से शादी कर लीस लिज ट्रस के 2 बच्चे हैं।

1981-1983 के बीच लिज ट्रस की मां परमाणु निरस्त्रीकरण अभियान के लिए मार्च निकाल रही थीं। वे ऐसे संगठन की मेंबर थीं जो लंदन के पश्चिम में अमेरिकी परमाणु हथियार स्थापित करने की अनुमति देने के मार्गरेट थैचर सरकार के फैसले का जोरदार विरोध कर रहा था।
लिज ट्रस वास्तविक रूप से आयरन लेडी कही जानें वालीं थैचर का अनुसरण करने हुए कंजर्वेटिव पार्टी की नेता और ब्रिटेन की प्रधानमंत्री बनीं।



और भी पढ़ें :