शुक्रवार, 1 मार्च 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. snowfall in himachal
Written By
Last Updated :नई दिल्ली , शनिवार, 2 दिसंबर 2023 (08:51 IST)

Weather Updates: हिमाचल में बर्फबारी, तमिलनाडु में भारी बारिश का अलर्ट

Himachal snowfall
Weather Updates: शिमला और जम्मू से मिले समाचारों के अनुसार हिमाचल प्रदेश के ऊपरी इलाकों, पर्वतीय दर्रों में मध्यम बर्फबारी (snowfall) के बाद के राज्य के अधिकांश हिस्सों में शुक्रवार को ठंड बढ़ गई। इसके साथ ही राजधानी शिमला सहित कई स्थानों पर शुक्रवार को भारी बारिश (rain) और ओलावृष्टि (hailstorm) हुई है। दूसरी ओर तमिलनाडु में बारिश का यलो अलर्ट (yellow alert) जारी किया गया है।
 
हिमाचल के गोंडला, कोकसर और केलॉन्ग में 8 से 20 सेंटीमीटर बर्फबारी हुई जबकि रोहतांग, कुंजुम के अलावा शिमला, सिरमौर और मंडी में ऊंचाई वाले स्थानों पर बर्फबारी हुई। जम्मू-कश्मीर में भी बर्फबारी होने के कारण मुगल रोड दूसरे दिन भी यातायात के लिए बंद रहा।
 
चेन्नई से मिले समाचार के अनुसार क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र द्वारा तमिलनाडु में अगले 2 दिन के लिए भारी बारिश का पूर्वानुमान जारी किए जाने के बाद मुख्यमंत्री एम.के. स्टालिन ने अधिकारियों को जरूरी एहतियाती कदम उठाने का निर्देश दिया है।
 
यहां सचिवालय में राजस्व, नगर निगम के विभागों के साथ-साथ पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों संग एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए समन्वित उपाय करने को कहा।
 
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्व में कल शु्क्रवार को जो कम दबाव का क्षेत्र बना था, वह आज और गहरा गया तथा यह पुडुचेरी से 760 किमी, चेन्नई से 780 किमी, आंध्रप्रदेश के बापटला से 960 किमी और मछलीपट्टनम से 940 किमी दूर केंद्रित है।
 
आईएमडी ने शुक्रवार को एक बुलेटिन में कहा कि 2 दिसंबर तक इसके गहरे दबाव के क्षेत्र और अगले दिन चक्रवाती तूफान में बदलने के आसार हैं। इसके बाद यह उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ेगा और 4 दिसंबर की शाम के आसपास चेन्नई और मछलीपट्टनम के बीच दक्षिण आंध्रप्रदेश और निकटवर्ती उत्तरी तमिलनाडु तटों को पार करेगा।
 
तमिलनाडु में बारिश का यलो 'अलर्ट' : तमिलनाडु के तटीय जिलों में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है। आईएमडी द्वारा यलो 'अलर्ट' (6-11 सेमी बारिश की संभावना) जारी किए जाने के बाद मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और उन्हें एहतियाती कदम उठाने के निर्देश दिए।
 
स्टालिन ने कहा कि मैंने अधिकारियों को चक्रवाती तूफान से उत्पन्न होने वाले हालातों से प्रभावी तरीके से निपटने और लोगों को कम से कम परेशानी हो, यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। उन्होंने बताया कि उन्हें समन्वित तरीके से आवश्यक सावधानी बरतनी चाहिए और संबंधित जिलों की जरूरतों के बारे में स्थानीय मंत्रियों, मुख्य सचिव या विभाग प्रमुखों को बताया जा सकता है।
 
बंगाल की दक्षिण-पूर्व खाड़ी के ऊपर स्पष्ट रूप से चिह्नित निम्न दबाव का क्षेत्र पिछले 12 घंटों के दौरान पश्चिम उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया और एक अवसाद में केंद्रित हो गया। यह कल 1 दिसंबर को भारतीय समयानुसार 5.30 बजे दक्षिण-पूर्व और निकटवर्ती दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी में 9.1 उत्तर अक्षांश और 86.4 डिग्री पूर्व देशांतर पर केंद्रित था।
 
पुडुचेरी से लगभग 790 किमी पूर्व दक्षिण-पूर्व, चेन्नई से 800 किमी दक्षिण-पूर्व, बापटला से 990 किमी दक्षिण-पूर्व और मछलीपट्टनम से 970 किमी दक्षिण-पूर्व में था। यह पश्चिम व उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ना जारी रख सकता है और 2 दिसंबर तक एक गहरे दबाव में तब्दील हो सकता है।
 
निम्न दबाव का क्षेत्र 3 दिसंबर को बंगाल की दक्षिण-पश्चिम खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है। इसके बाद यह उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ेगा और 4 दिसंबर की शाम के आसपास चक्रवाती तूफान के रूप में चेन्नई और मछलीपट्टनम के बीच आंध्रप्रदेश और आसपास के उत्तरी तमिलनाडु तट को पार कर सकता है।
 
उत्तर-पश्चिमी राजस्थान और आसपास के इलाकों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। एक चक्रवाती परिसंचरण बंगाल की दक्षिण-पश्चिमी खाड़ी और निकटवर्ती दक्षिण श्रीलंका के ऊपर समुद्र तल से 5.8 किमी ऊपर तक फैला हुआ है। महाराष्ट्र तट के पास पूर्वोत्तर अरब सागर पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है।
 
आज के मौसम की संभावित गतिविधि : स्काईमेट वेदर (skymet weather) के अनुसार आज शनिवार को अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तमिलनाडु और तटीय आंध्रप्रदेश के कुछ हिस्सों में मध्यम से भारी वर्षा संभव है। केरल, लक्षद्वीप, मध्यप्रदेश, विदर्भ के कुछ हिस्सों, मराठवाड़ा और मध्य महाराष्ट्र में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। बिहार, पूर्वी उत्तरप्रदेश और पश्चिमी हिमालय में हल्की बारिश संभव है। पश्चिमी हिमालय के ऊपरी इलाकों में हल्की बर्फबारी संभव है।
 
Edited by: Ravindra Gupta