Live : हरियाणा पुलिस ने किसानों पर वाटर कैनन और आंसू गैस का प्रयोग किया

Last Updated: गुरुवार, 26 नवंबर 2020 (22:19 IST)
नई दिल्ली। केन्द्र के कृषि कानूनों के खिलाफ आज किसानों के ‘दिल्ली चलो मार्च’ को देखते हुए दिल्ली से सटी सीमाओं पर सुरक्षा सख्त कर दी गई है। हरियाणा ने भी पंजाब से लगी सीमाएं सील कर दी है।  आंंदोलन से जुुुुड़ी हर जानकारी...
 
10:19PM, 26th Nov
केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के विरोध में कई राज्यों के किसानों के 26 और 27 नवंबर को ‘दिल्ली चलो’ मार्च को देखते हुए पुलिस ने अंतरराज्यीय सीमा पर सख्ती तेज कर दी है। किसानों को राजधानी में प्रवेश करने से रोकने के लिए सभी सीमाओं पर मंगलवार रात से ही जांच शुरू कर दी गई। सोनीपत- दिल्ली (सिंघु) बॉर्डर पर अर्धसैनिक बलों की भी तैनाती की गई है। दिल्ली की सीमा से सटे प्रमुख मार्गों पर बैरिकेडिंग कर दी गई है। पुलिस का कहना है कि किसानों को दिल्ली में प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी गई है। रोहतक रेंज के एडीजीपी सह आईजी संदीप खरेवाल ने सोनीपत के पुलिस अधीक्षक के साथ दौरा कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। आईजी का कहना है कि किसी भी तरह किसानों को दिल्ली में नहीं जाने दिया जाएगा। पुलिस प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद है। नए कृषि कानूनों का खिलाफ किसानों के दिल्ली कूच को लेकर गन्नौर- समालखा के बीच हलदाना बॉर्डर पर पुलिस द्वारा काफी सख्ती बरती जा रही है। वहीं पानीपत से दिल्ली की तरफ जाने वाले वाहनों के आवागमन पर रोक लगाई गई है। हलदाना बॉर्डर और सिंधु बॉर्डर पर बीएसएफ और हरियाणा पुलिस के जवान भारी संख्या में तैनात हैं।
10:10PM, 26th Nov
हरियाणा पुलिस ने गुरुवार को पंजाब के किसानों के एक समूह को तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछारें की और आंसू गैस का इस्तेमाल किया। ये किसान केन्द्र के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्तावित ‘दिल्ली चलो’ मार्च के तहत कथित तौर पर पुलिस अवरोधक लांघकर हरियाणा में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे। देर शाम तक उनमें से एक बड़ा समूह दिल्ली से करीब 100 किलोमीटर दूर पानीपत में टोल प्लाजा तक पहुंच चुका था। भारतीय किसान संघ (हरियाणा) के नेता गुरनाम सिंह ने कहा कि प्रदर्शनकारियों की वहां रात गुजारने की योजना है और अगली सुबह फिर मार्च शुरू होगा।
09:57PM, 26th Nov
किसानों का ‘दिल्ली चलो’ मार्च रोकने पर सुखबीर ने कहा- आज पंजाब का 26...11 है
शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने किसानों का ‘दिल्ली चलो’ मार्च विफल करने का प्रयास करने के लिए गुरुवार को हरियाणा सरकार की आलोचना की और प्रयास को ‘‘पंजाब का 26...11’’ करार दिया। बठिंडा की सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने भी हरियाणा में किसानों को प्रवेश करने से रोकने के लिए हरियाणा सरकार की निंदा की और कहा कि यह ‘लोकतंत्र की हत्या’ है। बादल ने एक ट्वीट में कहा,  कि आज पंजाब का 26...11 है। हम लोकतांत्रिक प्रदर्शन के अधिकार की समाप्ति देख रहे हैं। अकाली दल हरियाणा सरकार और केंद्र की निंदा करता है जिसने किसानों के शांतिपूर्ण आंदोलन को दबाया।
05:59PM, 26th Nov
किसानों के 'दिल्‍ली चलो मार्च' के कारण हरियाणा को दिल्‍ली से जोड़ने वाली ज्‍यादातर सड़कों पर बुरे हाल हैं। गुरुग्राम में जहां भारी ट्रैफिक के कारण वाहन फंसे हुए हैं। हालात और‍ बिगड़ने की आशंका के मद्देनजर राज्‍य प्रशासन को अलर्ट पर रखा गया है। 
 
02:49PM, 26th Nov
-पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने दिल्ली की ओर मार्च कर रहे किसानों को रोकने के लिए भाजपा नीत हरियाणा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके खिलाफ कठोर बल का इस्तेमाल पूरी तरह अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक है।
-उन्होंने कहा कि किसान कृषि कानून के खिलाफ दो महीने से पंजाब में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं।
-सिंह ने पूछा, 'बल का सहारा लेकर हरियाणा सरकार उन्हें क्यों उकसा रही है? क्या किसानों को शांतिपूर्ण तरीके से एक सार्वजनिक राजमार्ग से गुजरने का अधिकार नहीं है?'
02:25PM, 26th Nov
-कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे किसानों पर कड़ाके की ठंड में पानी की बौछार करने को अन्याय बताते हुए गुरुवार को कहा कि सरकार विरोध कर रहे किसानों की बात सुनने की बजाय उनकी आवाज़ को दबा रही है।
-राहुल ने ट्वीट किया, 'किसानों से समर्थन मूल्य छीनने वाले कानून के विरोध में किसानों की आवाज सुनने की बजाय भाजपा सरकार उन पर भारी ठंड में पानी की बौछार मारती है। किसानों से सबकुछ छीना जा रहा है और पूंजीपतियों को थाल में सजा कर बैंक, कर्जमाफी, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन बांटे जा रहे हैं।'
-कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि न्याय मांगते किसानों के सीने पर पड़ने वाली लाठियां भाजपा राज के कफन में आखिरी कील साबित होंगी और जीत अन्नदाता की ही होगी।
12:15PM, 26th Nov
-अंबाला में किसानों ने बैरिकेड हटाकर दिल्ली सीमा पर घुसने का प्रयास किया, पुलिस ने किसानों पर वॉटर कैनन का किया इस्तेमाल।
-कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी का ट्वीट, 'किसानों से समर्थन मूल्य छीनने वाले कानून के विरोध में किसान की आवाज सुनने की बजाय भाजपा सरकार उन पर भारी ठंड में पानी की बौछार मारती है। किसानों से सबकुछ छीना जा रहा है और पूंजीपतियों को थाल में सजा कर बैंक, कर्जमाफी, एयरपोर्ट रेलवे स्टेशन बांटे जा रहे हैं।'
11:09AM, 26th Nov
-दिल्ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, केंद्र सरकार के तीनों खेती बिल किसान विरोधी हैं। ये बिल वापिस लेने की बजाय किसानों को शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने से रोका जा रहा है, उन पर वॉटर कैनन चलाई जा रही हैं। किसानों पर ये जुर्म बिलकुल ग़लत है। शांतिपूर्ण प्रदर्शन उनका संवैधानिक अधिकार है।
10:53AM, 26th Nov
--हरियाणा पुलिस ने पंजाब के किसानों के एक समूह को तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछारें की और आंसू गैस का इस्तेमाल किया।
-ये किसान केन्द्र के कृषि कानूनों के खिलाफ प्रस्तावित ‘दिल्ली चलो’ मार्च के तहत कथित तौर पर पुलिस अवरोधक लांघ कर हरियाणा में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे।
-पंजाब के साथ लगी शंभू अंतरराज्यीय सीमा पर हरियाणा पुलिस के अधिकारियों ने ‘लाउड स्पीकर’ का इस्तेमाल किया और किसानों को पंजाब की ओर ही इकट्ठा होने को कहा। उनमें से कुछ अवरोधक लांघने की कोशिश कर रहे थे।
-राष्ट्रीय राजमार्ग पर शंभू अंतरराज्यीय सीमा पर स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है, जहां किसानों ने घग्गर नदी में पुलिस बैरिकेड को फेंक दिया। कई किसान हाथ में काले झंडे लिए भी नजर आए।
-इससे पहले अंबाला के मोहरा गांव में भी किसानों के एक समूह ने अवरोधक लांघने की कोशिश की थी और वहां भी पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए पानी की बौछार की थी।
10:09AM, 26th Nov
-'दिल्ली मार्च' के लिए निकले किसान अपने साथ खाने-पीने के सामान और कपड़े लेकर निकले हैं।
-बताया जा रहा है कि करनाल के पास बड़ी संख्‍या में किसान मौजूद है। वे दिल्ली में प्रवेश चाहते हैं।
 
08:48AM, 26th Nov
दिल्ली में सुरक्षा सख्‍त
किसानों के 'दिल्ली चलो' प्रदर्शन को राष्ट्रीय राजधानी में आने से रोकने के लिए दिल्ली पुलिस द्वारा सीमा पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली-फरीदाबाद सीमा पर सुरक्षा तैनात बल के जवानों के तैनात किया गया है। हरियाणा-दिल्ली सीमा पर भी बड़ी संख्या में सुरक्षाबल की तैनाती की गई है।
08:42AM, 26th Nov
पंजाब में जमा हुए किसान
वहीं, ठंड और बारिश से जूझते हुए हजारों की संख्या में किसान अंतरराज्यीय सीमा पर अपने ट्रैक्टरों के साथ पंजाब में जमा हुए। उन्हें आगे दिल्ली की ओर बढ़ना था लेकिन सीमा पर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती के कारण उन्हें पंजाब में ही रुकना पड़ा।

किसानों के ट्रैक्टर पर राशन, पानी सहित सभी इंतजाम दिख रहे हैं। सर्दी के इस मौसम में वे अपनी ट्रैक्टर ट्रॉली में या फिर सड़कों के किनारे अस्थाई तंबू लगाकर रहेंगे।
08:40AM, 26th Nov
हरियाणा-पंजाब के बीच में बसें बंद
-भाजपा शासित हरियाणा ने किसानों के ‘दिल्ली चलो मार्च’ के मद्देनजर पंजाब के साथ अपनी बस सेवा बुधवार से तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दी है।
-हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने बताया, 'हमने पंजाब के लिए रोडवेज सेवा अगले दो दिन के लिए निलंबित कर दी है।
-अधिकारियों ने बताया कि इस बीच बुधवार की शाम चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग ने भी किसानों के ‘दिल्ली चलो’ मार्च के मद्देनजर अगले दो दिन के लिए हरियाणा की अपनी बस सेवा निलंबित कर दी है।
-किसानों के मार्च वाले दिनों 26-27 नवंबर को हरियाणा पंजाब के साथ अपनी सीमाएं पूरी तरह सील कर देगा।
-हरियाणा पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 संबंधी पाबंदियों के मद्देनजर वे इतनी बड़ी संख्या में लोगों को राष्ट्रीय राजधानी की ओर मार्च करने की अनुमति नहीं दे सकते हैं।
-हरियाणा प्रशासन ने प्रदर्शनकारियों को जमा होने से रोकने के लिए राज्य के विभिन्न हिस्सों में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा भी लगाई है।

08:40AM, 26th Nov
2 बजे तक मेट्रो सेवाओं पर असर
-आंदोलनकारियों को दिल्ली पहुंचने से रोकने के लिए गुरुवार को दिल्ली मेट्रो ने अपनी सेवाओं में बदलाव किया है।
-मेट्रो की ओर से कहा गया कि दिल्ली पुलिस के अनुरोध पर किसान रैली के कारण गुरुवार को दोपहर 2 बजे तक लूप के जरिए सर्विस चलाई जाएंगी। दोपहर 2 बजे के बाद सभी लाइनों पर सर्विस पहले की तरह चलेगी।
-मेट्रो के अनुसार दोपहर 2 बजे तक दिल्ली से नोएडा, फरीदाबाद, गाजियाबाद और गुरुग्राम तक सर्विस एंड टू एंड नहीं चलेगी।
-ब्लू लाइन पर गुरुवार सुबह से दोपहर दो बजे तक आनंद विहार से वैशाली और न्यू अशोक नगर से नोएडा सिटी सेंटर तक मेट्रो की सेवाएं बंद रहेगी। येलो लाइन पर सुल्तानपुर मेट्रो स्टेशन से लेकर गुरु द्रोणाचार्य मेट्रो स्टेशन तक भी सेवाएं बंद रहेगी।



और भी पढ़ें :