लोनावला हिल स्टेशन, यहां झीलों को देखने से मन हो जाएगा रोमांचित

Lonavala hill station
हिल स्टेशन को मनोरम पहाड़ी इलाका कहते हैं। भारत में पहाड़ियों की विशालतम, लंबी, सुंदर और अद्भुत श्रृंखलाएं हैं। एक और जहां विध्यांचल, सतपुड़ा की पहाड़ियां है, तो दूसरी ओर आरावली की पहाड़ियां। कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक भारत में एक से एक शानदार पहाड़ हैं, पहाड़ों की श्रृंखलाएं हैं और सुंदर एवं मनोरम घाटियां हैं। आओ जानते हैं भारत के टॉप हिल स्टेशनों में से एक के बारे में रोचक जानकारी।

लोनावला हिल स्टेशन : ( ) :

1. महाराष्ट्र में मुंबई से करीब 96 किलोमीटर और खंडाला से लगभग 5 कीलोमीटर दूर स्थित है लोनावला (लोणावळा) हिल स्टेशन। पूणे से मात्र 2 घंटे का रास्ता है। इसे झीलों का जिला कहते हैं। मुंबई और पूना वासियों के लिए यह उनका फेवरिट डेस्टिनेशन है।

2. इस हिल स्टेशन क्षेत्र में लोनावला झील, तिगौती झील, मानसून और वाल्वन झील प्रमुख हैं, जिन्हें देखना बहुत ही अद्भुत है। खासकर वाल्वन झील पर बना वाल्वन बांध एक बेहतरीन पिकनिक स्पॉट है।
3. लोनावला को सह्याद्रि पर्वत मालाओं की मणि और मुंबई-पुणे का प्रवेश द्वार भी कहते हैं।

4. लोनावला से महज 6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बुशी डैम। पर्यटकों के लिए यह एक बेहतरीन स्पॉट है।

5. लोनावला के मुख्‍य बाजार के ठीक पीछे स्थित रेवुड पार्क एक भी देखना ना भूलें यह एक खूबसूरत जैविक उद्यान है।

6. लोनावला जा रहे हैं तो यहां के किले देखना ना भूलें। लौहगढ़, विशपुर, तुंग किला और तिकोना किला जरूर देखें।

7. लौहगढ़ एक अपराजेय किले के तौर पर जाना जाता है, वहीं तिकोना किले के शिखर पर बौद्ध गुफा और जल कुंड हैं। लोनावाला से पुणे जाने के मार्ग पर बौद्ध धर्म से संबंधित पत्थरों का काटकर बनाई गई कई गुफाएं हैं। कार्ले तथा भज गुफा उसमें से प्रमुख है।

8. तिकोना किले के पास ही पावना झील है जिसमें तिकोना किले का प्रतिबिंब बेहद खूबसूरत दिखाई देता है

9. यहां की चिक्की की काफी प्रसिद्ध है। चिक्की मूंगफली, तिल, काजू, बादाम, पिस्‍ता, अखरोट आदि को गुड़ या शक्कर में मिलाकर बनाई जाती हैं।
10. यहां एक बहुत ही सुंदर पहाड़ी पत्थर है जिसे ड्यूक नोज के नाम से जाता है। इसे नागफनी के नाम से भी जाना जाता है। खंडाला स्टेशन से इसके शिखर पर आसानी से पैदल चढ़ा जा सकता है। इस पहाड़ी के समीप ही सौसेज हिल और आईएनएस शिवाजी है। सौसेज हिल पर एक छोटा सा जंगल है। यहां पक्षियों की विभिन्न प्रजातियां देखी जा सकती हैं।



और भी पढ़ें :