Maharashtra में मुख्‍यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस का इस्तीफा

Last Updated: मंगलवार, 26 नवंबर 2019 (15:43 IST)
मुंबई। करीब 80 घंटे तक के मुख्‍यमंत्री रहे ने अन्तत: मंगलवार को मुख्‍यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें बुधवार शाम 5 बजे तक बहुमत साबित करने का आदेश दिया था।
ALSO READ:
: क्या चाचा शरद पवार के पास लौट आए हैं अजित पवार?


फडणवीस ने कहा कि जनता भाजपा और शिवसेना को जनादेश दिया था। हमने शिवसेना के साथ चुनाव लड़ा था। लेकिन 50-50 फॉर्मूले पर कोई बात नहीं हुई थी। जो बात हुई ही नहीं उस पर शिवसेना अड़ी रही।

उन्होंने कहा कि कभी भी शिवसेना के साथ ढाई-ढाई साल के मुख्‍यमंत्री की बात नहीं हुई। भाजपा को 105 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी थी। उन्होंने दूसरे दलों के साथ बातचीत की, हमें धमकी दी, लेकिन हम उनकी मांगों के आगे नहीं झुके। चूंकि बहुमत नहीं होने के कारण भाजपा ने सरकार बनाने से इंकार किया था।

इसके बाद शिवसेना और एनसीपी को भी राज्यपाल ने सरकार बनाने का अवसर दिया था, लेकिन जब कोई सरकार नहीं बना पाया तो राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया।

उद्धव बनेंगे 5 साल के लिए मुख्‍यमंत्री :
दूसरी ओर शिवसेना नेता और राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने कहा है कि ‍उद्धव ठाकरे 5 साल के लिए मुख्‍यमंत्री बनेंगे। उन्होंने कहा कि अब अजित पवार भी हमारे साथ हैं। आज शाम 5 बजे होने वाली शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की बैठक में उद्धव ठाकरे को नेता चुनेंगे।


और भी पढ़ें :