धारा 370 पर अकेले पड़ गए राहुल गांधी, सिंधिया भी आए मोदी सरकार के समर्थन में

विकास सिंह| Last Updated: बुधवार, 7 अगस्त 2019 (10:00 IST)
भोपाल। में को हटाने को लेकर मोदी सरकार के फैसले को लेकर कांग्रेस में राहुल गांधी लगभग अकेले पड़ गए हैं। राहुल के करीबी और उनके कोर ग्रुप में माने जाने वाले युवा नेताओं ने आश्चर्यजनक तरीके से एक के बाद एक मोदी सरकार के फैसले का समर्थन कर दिया।
इस कड़ी में नया नाम कांग्रेस अध्यक्ष पद की दौड़ में शामिल और राहुल गांधी के करीबी माने जाने वाले दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया का जुड़ गया है। जब लोकसभा में नए बिल पर वोटिंग हो रही थी लगभग उसी समय सिंधिया ने ट्वीट कर मोदी सरकार के जम्मू कश्मीर को लेकर लिए गए फैसले का समर्थन कर दिया।

सिंधिया ने ट्वीट करते हुए लिखा कि जम्मू कश्मीर और लद्धाख को लेकर उठाए गए कदम और भारत देश में उनके पूर्ण रुप से एकीकरण का मैं समर्थन करता हूं। संवैधानिक प्रक्रिया का पूर्ण रुप से पालन किया जाता तो बेहतर होता, साथ ही कोई प्रश्न भी खड़े नहीं होते लेकिन ये फैसला राष्ट्रहित में लिया गया है और मैं इसका समर्थन करता हूं।
जम्मू कश्मीर में धारा 370 को लेकर मोदी सरकार के फैसले का समर्थन करने वालों में ज्योतिरादित्य सिंधिया से पहले कांग्रेस के युवा चेहरे माने जाने महराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा, हरियाणा कांग्रेस के युवा नेता दीपेंद्र सिंह हुड्डा और उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की युवा विधायक अदिति सिंह का नाम प्रमुख है।

जम्मू कश्मीर पर मोदी सरकार के फैसले का समर्थन करने वाले कांग्रेस के यह सभी नेता युवा चेहरे और राहुल गांधी के काफी करीबी माने जाते हैं।
राहुल गांधी ने किया था विरोध – इससे पहले राहुल गांधी ने जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटाने के लिए
मोदी सरकार के फैसले का विरोध किया था। राहुल गांधी ने सरकार के कदम को अंवैधानिक और मूर्खतापूर्ण बताते हुए कहा था कि सरकार के फैसले से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा पैदा होगा और कश्मीर में आतंकियों को बढ़ावा मिलेगा।
राहुल ने मोदी सरकार तंज कसते हुए कहा था कि देश लोगों से बनता है जमीन के टुकड़ों से नहीं। उन्होंने जम्मू कश्मीर के नेताओं को नजरबंद करने पर भी सवाल उठाए थे।

 

और भी पढ़ें :