गुरुवार, 25 जुलाई 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. मध्यप्रदेश
  4. Bhopal MP Sadhvi Pragya Singh Thakur's blatant statement
Written By Author विकास सिंह
Last Modified: सोमवार, 7 सितम्बर 2020 (08:40 IST)

‘मेरा चुनाव भोपाल का सौभाग्य था’,सांसद साध्वी प्रज्ञा का बड़बोला बयान,बिना नाम लिए दिग्विजय पर कसा तंज

जब सियार की मौत आती है तो शहर की तरफ भागता है : सांसद

‘मेरा चुनाव भोपाल का सौभाग्य था’,सांसद साध्वी प्रज्ञा का बड़बोला बयान,बिना नाम लिए दिग्विजय पर कसा तंज - Bhopal MP Sadhvi Pragya Singh Thakur's blatant statement
भोपाल। अपने बयानों के लिए अक्सर चर्चा में रहने वाली भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के एक बार‌‌ फिर बड़बोला बयान दिया है। रविवार को भोपाल में अपने आवास‌‌ पर हिंदू संगठन ‌के सम्मान कार्यक्रम में बोलते हुए सांसद साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि उनका चुनाव भोपाल का सौभाग्य था और भोपाल के लोग सौभाग्यशाली थे जिन्होंने धर्म के लिए वोट किया। 
 
भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने लोकसभा चुनाव में उनके प्रतिदंद्धी रहे दिग्विजय सिंह का‌ बिना नाम लिए कहा कि “भोपाल में हमें क्यों लाया‌ गया, यह भी आपको ज्ञात होगा। ऐसा कहा जाता है कि जब सियार की मौत आती है तो शहर की तरफ भागता है। यहां अधर्म आकर टिकने का प्रयास किया,15 माह तक यहां कुशासन था। पूरे कुशासन ने जोर लगा दिया लेकिन भोपाल की जनता ने, हमारे हिंदुओं ने ऐसी मार मारी कि पानी भी नहीं मांग पाए।  ऐसे दुरनीति पर चलने वाले लोगों की जब राजनीति खत्म कर दो तो वह अपने आप समाप्त हो जाते है। आज अपना अस्तित्व बचाने के लिए दर-दर जा रहे हैं लेकिन कहीं भी कुछ नहीं मिल रहा है चारों और दुश्मनों ने घेर रखा है”। 
 
इसके आगे भाजपा सांसद ने कहा कि ‘भोपाल का सौभाग्य था जब मेरा चुनाव हो रहा था,लोकसभा चुनाव में पूरे देश का केंद्र भोपाल बना हुआ था और आप सौभाग्यशाली थे कि आपने धर्म के लिए वोट किया। 
 
गौरतलब है कि भाजपा के टिकट पर भोपाल से सांसद बनी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को हराया था। चुनाव में साध्वी प्रज्ञा ने भोपाल में धर्म और अधर्म के बीच लड़ाई को बताया था।
 
कोरोनाकाल में सरकार की तरफ से दुर्गा उत्सव बनाने और दुर्गा प्रतिमाओं को स्थापित करने की छूट देने के बाद रविवार को संस्कृति बचाओ मंच की अगुवाई में दुर्गा पंडाल समितियों और मूर्तिकार सांसद साध्वी प्रज्ञा का धन्यवाद करने के लिए पहुंचे थे। 
ये भी पढ़ें
169 दिन बाद बहाल हुईं दिल्ली मेट्रो की सेवाएं, 3 चरणों में होगा परिचालन