डेब्यू पर टेस्ट शतक जड़ चुके श्रेयस अय्यर ने IPL 2022 में छोड़ा फ्रैंचाइजी का साथ, उतरेंगे नीलामी में

Last Updated: शुक्रवार, 26 नवंबर 2021 (16:15 IST)
नई दिल्ली:ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 के लिए ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ, और एनरिक नोर्त्जे की चौकड़ी को रिटेन करने का फ़ैसला किया है। गुरुवार को टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण कर शानदार शतक जड़ने वाले कैपिटल्स के पूर्व कप्तान ने नीलामी में जाने का फ़ैसला किया है।

कैपिटल्स अय्यर के इस निर्णय को एक झटके के रूप में देख सकते है, वे पूरी तरह से हैरान नहीं होंगे। अप्रैल में कंधे की चोट के कारण अय्यर के आईपीएल के पहले चरण से बाहर होने के बाद कैपिटल्स ने पंत को कप्तानी सौंपी थी और तब से उनके सामने सवाल था कि क्या वह अय्यर को रिटेन कर पाएंगे।

2018 आईपीएल के बीच में कप्तान गौतम गंभीर द्वारा पद छोड़ने के बाद से अय्यर ने टीम का सफलतापूर्वक नेतृत्व किया। साल 2012 के बाद से पहली बार 2019 में कैपिटल्स ने प्लेऑफ़ में जगह बनाई और वह दूसरे क्वालीफ़ायर में हार गए। एक साल बाद वे अपने पहले आईपीएल फाइनल में पहुंचे जहां मुंबई इंडियंस ने उन्हें हराया।

इस साल मार्च में, इंग्लैंड के ख़िलाफ़ घरेलू वनडे सीरीज़ के दौरान, अय्यर को कंधे पर चोट लगी जिसके बाद उन्हें सर्जरी से गुज़रना पड़ा। इसके चलते कैपिटल्स ने उस समय एक अंतरिम कप्तान के रूप में पंत को नियुक्त किया। हालांकि अय्यर ने अक्तूबर-नवंबर में यूएई में खेले गए आईपीएल के दूसरे चरण के लिए वापसी की, लेकिन पंत को कप्तान के रूप में बरक़रार रखा गया।

कप्तान बनना चाहते हैं अय्यर

अय्यर दो नई टीमों द्वारा ख़रीदे जा सकते हैं लेकिन क्रिकइंफ़ो को पता चला है कि उन्होंने ऑक्शन में जाने का फ़ैसला किया है जहां आठ मौजूदा टीमों में से अधिकतर एक कप्तान की तलाश में होंगी। यह समझा जा रहा है कि कैपिटल्स की सूची में पहला नाम पंत का था और अय्यर के ख़ुद बाहर होने से शॉ ने उनकी जगह ले ली।

भारत की 2018 अंडर -19 विश्व कप जीत के दौरान सुर्ख़ियां बटोरने वाले शॉ को उसी वर्ष नीलामी में 1.2 करोड़ रुपये में ख़रीदा गया था। 20 वर्षीय शॉ को विश्व स्तर पर खेल के सबसे विनाशकारी सलामी बल्लेबाज़ों में से एक माना जाता है। कैपिटल्स में उन्होंने रिकी पोंटिंग और प्रवीण आमरे की कोचिंग जोड़ी के तहत अपने विकास को स्वीकार किया है, इसलिए फ़्रेंचाइज़ी को विचार-विमर्श करने के लिए ज़्यादा ज़रूरत नहीं थी।


इसके विपरीत नोर्त्जे और अक्षर का चुनाव इतना आसान निर्णय नहीं था। 2020 में कैपिटल्स के साथ जुड़े नोर्त्जे के सामने थे कैगिसो रबादा। संयोग से जबकि नोर्त्जे ने भारत में कभी भी आईपीएल नहीं खेला है, यूएई में उनके आंकड़ें अत्यधिक प्रभावशाली हैं।

आईपीएल में उनके 34 विकेटों में से 12 पावरप्ले में आए, जो उनके पदार्पण के बाद से उस चरण में किसी भी गेंदबाज़ द्वारा तीसरे सबसे अधिके हैं। 2018 में कैपिटल्स का हिस्सा बने रबादा के 45 में से 22 विकेट अंतिम ओवरों में आए जहां उनकी इकॉनमी 9.44 की थी। वहीं 7.82 की नोर्त्जे की इकॉनमी पिछले दो सीज़न में इस दौरान 100 से अधिक गेंदें डालने वाले गेंदबाज़ों में सर्वश्रेष्ठ हैं। उन आंकड़ों से कैपिटल्स के प्रबंधन को यक़ीन हो गया होगा कि नोर्त्जे एक बेहतर दांव है।

अक्षर के मामले में फ़ैसला उनके और वरिष्ठ सलामी बल्लेबाज़ शिखर धवन के बीच था जो 2019 में सनराइज़र्स हैदराबाद का साथ छोड़कर कैपिटल्स का हिस्सा बने थे। 2008 में दिल्ली के लिए पहला सीज़न खेलने के बाद यह 11 सालों बाद धवन की घर वापसी थी। 2019 में कैपिटल्स में उनके शामिल होने के बाद से केवल लोकेश राहुल (1889 रन) ने धवन (1726 रन) से अधिक रन बनाए हैं। इस दौरान 49 पारियों में धवन ने 134.63 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए और 2020 आईपीएल में दो लगातार शतक भी जड़े।

धवन जहां कैपिटल्स के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ रहे हैं, वहीं अक्षर एक बढ़िया हरफ़नमौला खिलाड़ी बनते जा रहे, ख़ासकर गेंद के साथ। 2019 में कैपिटल्स के लिए पदार्पण के बाद से, अक्षर ने 41 मैचों में 34 विकेट लिए हैं। उनकी 6.73 की इकॉनमी पिछले तीन सीज़न में कैपिटल्स के लिए कम से कम 50 गेंदें फेंकने वाले खिलाड़ियों की तुलना में सबसे अच्छी है। अक्षर न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ हुई टी20 सीरीज़ में छह रन प्रति ओवर के दर से गेंदबाज़ी करते हुए संयुक्त रूप से सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ रहे थे और 11 ओवरों में उन्होंने केवल एक छक्का खाया।

आईपीएल ने मौजूदा आठ टीमों के लिए खिलाड़ियों को रिटेन करने के लिए 30 नवंबर की समय सीमा तय की थी। मौजूदा टीमें अधिकतम चार खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती हैं, जबकि लखनऊ और अहमदाबाद में स्थित दो नई टीमें 25 दिसंबर तक रिटेन नहीं किए गए खिलाड़ियों में से तीन खिलाड़ियों को ख़रीद सकती हैं। नीलामी में टीम द्वारा ख़र्च किए जानी वाली अधिकतम राशि को बढ़ाकर 90 करोड़ रुपये कर दिया गया है, खिलाड़ियों को रिटेन करने के आधार पर उसमें कटौती के लिए वेतन स्लैब निर्धारित किए गए हैं।

यदि कोई टीम चार खिलाड़ियों को रिटेन करती है, तो पर्स से 44 करोड़ रुपये काटे जाएंगे। अगर वह तीन खिलाड़ियों को बरक़रार रखती है तो एक टीम की राशि से 33 करोड़ रुपये, दो खिलाड़ियों के लिए 24 करोड़ रुपये और सिर्फ़ एक खिलाड़ी को बरक़रार रखने पर 14 करोड़ रुपये कटेंगे। किसी भी अनकैप्ड खिलाड़ी को अधिकतम चार करोड़ रुपयों में रिटेन किया जा सकता है। महत्वपूर्ण रूप से एक खिलाड़ी के पास यह तय करने का अंतिम अधिकार होगा है कि वह रिटेन होना चाहता है या नीलामी का हिस्सा बनना चाहता है।इस फ़ैसले के बाद कैपिटल्स 48 करोड़ रुपये के साथ नीलामी में उतरेंगे।(वार्ता)



और भी पढ़ें :