क्रिप्टोकरेंसी पर सख्‍त हुआ चीन, बिटकॉइन में बड़ी गिरावट

Last Updated: मंगलवार, 5 अक्टूबर 2021 (21:52 IST)
के सेंट्रल बैंक ने क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध लगा दिया है। चीन को क्रिप्टोकरेंसी की दुनिया में बड़ा बाजार मान गया है। इस वजह से दुनियाभर के क्रिप्टोकरेंसी बाजार में भारी गिरावट दर्ज की गई है। क्रिप्टोकरेंसी बाजार पूंजीकरण 3.09% गिरकर 1.91 लाख करोड़ डॉलर का हो गया है। बिटकाइन ही नहीं इथरियम, डोजेकॉइन सभी क्रिप्टोकरेंसी में भारी गिरावट दर्ज की गई।
पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना ने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी से जुड़ा हर लेनदेन अवैध है। अपनी वेबसाइट पर लिखा कि बिटक्वाइन और टेथर सहित सभी क्रिप्टोकरेंसी, फिएट करेंसी नहीं हैं। इन्हें बाजार में सर्कुलेट नहीं किया जा सकता है।

नोटिस में आगे कहा गया है कि वर्चुअल करेंसी माइनिंग ऊर्जा-गहन है, उच्च कार्बन उत्सर्जन पैदा करता है और अर्थव्यवस्था में बहुत कम योगदान देता है।

बैंक ने इसके साथ ही सभी वित्तीय संस्थानों, पेमेंट कंपनियों और इंटरनेट फर्मों को क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग से जुड़ी सुविधा देने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

चीन के इस कदम से बिटक्वाइन की कीमत में भारी गिरावट आई है। इसकी कीमत 42 हजार डॉलर तक पहुंच गई है। यह 6 सितंबर को यह 51,000 डॉलर से ऊपर चली गई थी।



और भी पढ़ें :