लाल किताब के अनुसार ये 10 काम वर्ष में 2 बार अवश्य करें

lal kitab ke gharelu upay
अनिरुद्ध जोशी| Last Updated: सोमवार, 6 जनवरी 2020 (15:18 IST)
लाल किताब एक रहस्यमयी किताब है। इसमें जितने उपाय बताए गए हैं उसे ज्यादा सावधानियां बताई गई है। आपके लिए हम लाए हैं लाल किताब के ऐसे 10 उपाय जिन्हें आप वर्ष में 2 बार जरूर करें। ऐसे करने से आप एक ओर तो रह तरह के संकट से बच जाएंगे साथ ही आप तरक्की भी करते जाएंगे।

1. पहला : अलग-अलग पानीदार नारियल लेकर अपने और अपने परिवार के सदस्यों के ऊपर से 21 बार वार कर उसे अग्नि में जला दें। इसी तरह 21 बार वार कर बहते पानी में बहा दें। यह कार्य आप किसी भी गुरुवार को करें। इससे हर तरह की अला बला, नजर आदि समाप्त हो जाएगी।


2.दूसरा : तांबे के लोटे में जल भरकर उसे सिरहाने रखकर सोएं और सुबह उठते ही उसे बाहर ढोल दें या कीकर के वृक्ष में डाल दें। ऐसा कम से कम 11 दिन करें। इससे तरह के शारीरिक और मानसिकक रोग दूर हो जाएंगे।

3.तीसरा : काला और सफेद दोरंगी कंबल लें और 21 बार खुद पर से वार कर किसी गरीब को दान कर दें। यह कार्य आप एक बार भी कर सकते हैं। यह कार्य शनिवार को करें तो ज्यादा अच्छा है।


4.चौथा : बहते पानी में रेवड़ियां, बताशे, शहद या सिंदूर बहाएं। यह कार्य मंगलवार को करें तो ज्यादा अच्‍छा है। इससे हर तरह का मंगलदोष दूर हो जाएगा।


5.पांचवां : कभी-कभी आंखों में काला सूरमा लगाएं। कम से कम 11 दिन तक लगातार लगाएं। यह भी मंगल का उपाय है।

6.छठा : वर्ष में 2 बार किसी अंधे को, अपंग को, संन्यासियों को या कन्याओं को भोजन अवश्य कराएं। इससे हर तरह का शनिदोष दूर हो जाएगा।


7.सातवां : वर्ष में कम से कम 2 बार हनुमानजी को चौला अवश्य चढ़ाएं। एक बार मंगलवार को और दूसरी बार शनिवार को। इससे हनुमानजी की कृपा आप पर बनी रहेगी।


8.आठवां : वर्ष में कम से कम 2 बार कहीं पर भी नीम, पीपल, बरगद, शमी या आम के वृक्ष लगाएं। कहते हैं कि जो व्यक्ति एक पीपल, एक नीम, दस इमली, तीन कैथ, तीन बेल, तीन आंवला और पांच आम के वृक्ष लगाता है, वह कभी भी नरक के दर्शन नहीं करता हैं।

9.नौवां : वर्ष में 2 बार नहीं तो कम से कम एक बार किसी तीर्थ स्थान पर घुमने जरूर जाएं। तीर्थ में जाने का लाल किताब में उल्लेख मिलता है। इससे देवी और देवताओं का आशीर्वाद आप पर बना रहेगा।


10.दसवां : वर्ष में कम से कम 2 बार पशु और पक्षियों को भरपेट भोजन कराएं और उन्हें अच्छे से पानी पिलाएं। कहते हैं कि जो व्यक्ति अपने परिवार के सभी सदस्यों से बराबर मात्रा में रुपए लेकर एक ही दिन में 100 गाय या कुत्तों को रोटी या हरा चारा खिलाता है उसके सभी संकट दूर हो जाते हैं।


और भी पढ़ें :