बुधवार, 24 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. अंतरराष्ट्रीय
  4. US House passes Quad Bill
Last Updated : शुक्रवार, 16 फ़रवरी 2024 (10:13 IST)

अमेरिकी सदन ने पारित किया क्वाड विधेयक, भारत सहित 4 देशों के मध्य सहयोग होगा मजबूत

अमेरिकी सदन ने पारित किया क्वाड विधेयक, भारत सहित 4 देशों के मध्य सहयोग होगा मजबूत - US House passes Quad Bill
वॉशिंगटन। अमेरिका (US) की प्रतिनिधि सभा ने क्वाड विधेयक (Quad Bill) पारित कर दिया है जिसमें अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, भारत और जापान के बीच घनिष्ठ सहयोग के वास्ते राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) के प्रशासन को एक 'क्वाड अंतर-संसदीय कार्य समूह' स्थापित करने के निर्देश दिए गए हैं।
 
भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान में होगा सहयोग मजबूत: विधेयक 39 के मुकाबले 379 वोट से पारित हुआ। 'मजबूत अमेरिका-ऑस्ट्रेलिया-भारत-जापान सहयोग' या चतुष्पक्षीय सुरक्षा संवाद (क्वाड) विधेयक में अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, भारत और जापान के बीच संयुक्त सहयोग को मजबूत करने की बात कही गई है।
 
इसमें विदेश मंत्रालय को निर्देश दिया गया है कि वह विधेयक के अधिनियमित होने के 180 दिनों के भीतर क्वाड के साथ कामकाज और सहयोग बढ़ाने की रणनीति कांग्रेस को प्रस्तुत करे और इसके अधिनियमन के 60 दिन के भीतर क्वाड अंतर-संसदीय कार्य समूह के गठन के लिए जापान, ऑस्ट्रेलिया और भारत के साथ बातचीत करे।
 
कांग्रेस के अधिकतम 24 सदस्य होंगे : कार्य समूह में अमेरिका का प्रतिनिधित्व करने के लिए एक अमेरिकी समूह की भी स्थापना होगी जिसमें कांग्रेस के अधिकतम 24 सदस्य होंगे। यह वार्षिक बैठकों और समूह नेतृत्व के लिए दिशानिर्देश भी तय करेगा। विधेयक में कहा गया है कि इस समूह को कांग्रेस की विदेश मामलों की समितियों को एक वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी।
 
डेमोक्रेटिक पार्टी के 2 सांसदों ने विधेयक के विरोध में मतदान किया। उनमें से एक मिनियापोलिस से कांग्रेस महिला इल्हान उमर हैं। सांसद ग्रेगरी मीक्स द्वारा पेश किए गए इस विधेयक में यह भी कहा गया है कि विदेश मंत्रालय को क्वाड के साथ कामकाज और सहयोग को मजबूत करने की रणनीति के बारे में भी कांग्रेस को जानकारी देनी होगी।
 
प्रतिनिधि सभा की विदेश मामलों की समिति के वरिष्ठ सदस्य मीक्स ने कहा कि अमेरिका, जापान, ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच चतुष्पक्षीय सुरक्षा वार्ता एक स्वतंत्र और खुले हिन्द-प्रशांत क्षेत्र को बढ़ावा देने और क्षेत्र में अमेरिकी हितों को आगे बढ़ाने के लिए जरूरी है।(भाषा)
 
Edited by: Ravindra Gupta
ये भी पढ़ें
bengal: ED ने पूर्व मंत्री के करीबी बिल्डर के आवास और कार्यालय पर मारे छापे